अगरतला। त्रिपुरा में शरणार्थियों के रूप में रहने वाले ब्रू समुदाय के लोगों के लिए राहत भरी खबर है। अब दो दशक के बाद करीब 32,876 लोग अपने घर मिजोरम वापस लौटेंगे। इसके लिए केंद्र सरकार ने दोनों राज्यों के साथ मिलकर समझौता किया है। 

बता दें कि यह लोग पिछले दो दशक से विस्थापित जिंदगी जीने को मजबूर हैं। हालांकि गृह मंत्रालय की मदद से अब इन्हें इनके घर वापस भेजा जाएगा।  केंद्र, मिजोरम व त्रिपुरा सरकार के अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब और मिजोरम के मुख्यमंत्री लाल थान्हावला की उपस्थिति में मिजोरम ब्रू डिस्प्लेस्ड पीपुल्स फोरम (एमबीडीपीएफ) ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि त्रिपुरा में अस्थायी शिविरों में रहने वाले 5,407 परिवारों के विस्थापित लोग 30 सितंबर, 2018 से पहले मिजोरम वापस आ जाएंगे। केंद्र सरकार मिजोरम में ब्रू समुदाय के लोगों के पुनर्वास के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी और मिजोरम व त्रिपुरा सरकार के परामर्श से सुरक्षा, शिक्षा, आजीविका से संबंधित अन्य मुद्दों पर फैसला लेगी। मिजोरम से विस्थापित ब्रू लोग 1997 से त्रिपुरा के विभिन्न शिविरों में रह रहे हैं।