गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री सुवेंदु अधिकारी को ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई। सुवेंदु अधिकारी ने गुरुवार को तृणमूल कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। एमएचए के एक अधिकारी ने कहा कि सुवेंदु अधिकारी को पश्चिम बंगाल के अंदर सुरक्षा की उच्च श्रेणी प्रदान की गई है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) उन्हें बुलेट प्रूफ वाहनों के साथ ले जाएंगे।

अधिकारी ने कहा, ‘‘हालांकि, जब वह पश्चिम बंगाल से बाहर होंगे, तो उन्हें सीआरपीएफ द्वारा वाई-प्लस सुरक्षा कवर प्रदान किया जाएगा।’’ अधिकारी ने तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी को एक आधिकारिक पत्र देकर पार्टी को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। अधिकारी ने बुधवार शाम राज्य विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था। अपने इस्तीफे में सुवेंद ने ममता बनर्जी को संबोधित करते हुए टीएमसी में रहते हुए मिली जिम्मेदारियों के प्रति आभार व्यक्त किया। सुवेंदु ने लिखा, 'मैं तृणमूल कांग्रेस सदस्य के साथ पार्टी के अन्य सभी पदों से तत्काल रूप से इस्तीफा देता हूं। मैं उन सभी अवसरों के लिए शुक्रगुजार हूं जो मुझे दिए गए।'


सुवेंदु के इस्तीफे के बाद ममता ने कहा था कि टीएमसी एक बरगद के पेड़ जैसा दल है। ऐसे में एक-दो के जाने से फर्क नहीं पड़ता है। हालांकि सुवेंदु के जाने के बाद पार्टी सदस्यों में हताशा जरूर है। इससे पहले, अधिकारी ने पिछले महीने 27 नवंबर को ममता बनर्जी के नेतृत्व वाले राज्य मंत्रिमंडल से मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने इससे दो दिन पहले हुगली रिवर ब्रिज कमिश्नर (एचआरबीसी)के अध्यक्ष पद को भी छोड़ दिया था।