केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने गुजरात में नर्मदा जिले के केवड़िया स्थित स्टेच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) पर राष्ट्रीय एकता दिवस समारोह में रविवार को कहा कि भारत की एकता और अखंडता को कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। 

शाह (shah) ने कहा कि सरदार साहब का जीवन हम सबके लिए, विशेषकर बच्चों और युवाओं के लिए प्रेरणादायी है। सरदार साहब एक गऱीब किसान के घर में जन्म लेने के बाद बैरिस्टर तक की पढ़ाई करके अपना करियर छोड़कर गांधी जी (Gandhi ji) के आह्वान पर आजादी के आंदोलन से जुड़े। जब देश आजाद हुआ तब अंग्रेज देश के सामने कई प्रकार के संकट छोड़कर गए थे। एक ओर विभाजन का संकट था, एक ओर नई शासन प्रणाली को बनाने का सवाल था, एक ओर नया संविधान बनना था और सबसे बड़ा संकट था 500 से ज्यादा रियासतों का भारत संघ में समावेश करना। लेकिन सरदार साहब ने निर्बल होती सेहत के बावजूद ये काम पूरा किया और जो लोग सोचते थे कि आजाद भारत खंड-खंड होकर बिखर जाएगा, उनके इरादों पर पानी फेरते हुए सरदार पटेल ने एक अखंड भारत का निर्माण किया। 

उन्होनें कहा कि सरदार साहब का जीवन, उनका व्यक्तित्व हम सबको सदैव प्रेरणा और मार्गदर्शन देता है। सरदार साहब ही थे जिन्होंने आजादी के आंदोलन (freedam movement) में किसानों की आवाज बुलंद की, सहकारिता की नींव डाली और अंग्रेजों के सामने आजादी के आंदोलन के व्यावहारिक पक्ष का नेतृत्व हमेशा किया।