उत्तराखंड में आई आपदा का जायजा लेने गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) आज उत्तराखंड दौरे पर आ रहे हैं। अमित शाह (Amit Shah) आज बुधवार देर शाम देहरादून आ सकते हैं, यहां रात्रि विश्राम के बाद उनका कल गुरुवार को प्रभावित क्षेत्रों में जायजा लेने का कार्यक्रम बन रहा है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने शाह के दौरे की पुष्टि की है।

अमित शाह (Amit Shah) के दौरे को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग तैयारियों में जुट गया है। इस बीच सीएम पुष्कर सिंह (CM Pushkar Singh) धामी लगातार कुमांऊ के प्रभावित क्षेत्रों में बने हुए हैं। बचाव और राहत अभियान में एसडीआरएफ (SDRF)के साथ ही एनडीआरएफ (NDRF) की टीमें भी लगी हुई हैं। राज्य आपदा कंट्रोल रूम के अनुसार तीन दिन की आपदा के बाद अब तक कुल 46 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 11 अब भी लापता चल रहे हैं। 

उत्तराखंड (Uttrakhand) में दो दिन की भारी बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। मैदानी इलाकों से लेकर पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश से काफी नुकसान पहुंचा है। हालांकि, राहत की बात है अब मौसम खुल गया है। जिदंगी दोबारा पटरी पर आने लगी है, लेकिन भारी बारिश के बाद आपदा से हुए नुकसान की भरपाई को काफी समय लगेगा। भारी बारिश की वजह से प्रदेशभर में पिछले तीन दिनों में 46 लोगों की मौत हो चुकी है। चिंता की बात है कि सबसे ज्यादा मौतें नैनीताल जिले में हुईं हैं।

बेमौसम बरसात की वजह से सड़कें सहित नेशनल हाईवे टूट गईं तो पुल टूटने से जगह-जगह यात्री फंस गए हैं। मौसम विभाग की मानें तो उत्तराखंड में दो दिन बारिश के बाद बुधवार को राहत की उम्मीद है। नैनीताल, चंपावत, पौड़ी और पिथौरागढ़ जिलों में हल्की बारिश हो सकती है। बाकी जिलों में राहत रहेगी। देहरादून स्थित मौसम विज्ञान केंद्र से जारी पूर्वानुमान के अनुसार, उत्तराखंड चार जिलों को छोड़कर बाकी जिलों में शुष्क मौसम रहने की संभावना है।

सीएम पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने आपदा की वजह से जान गंवाने वालों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा भी की। सीएम ने डीएम को निर्देश दिए कि अतिवृष्टि पीड़ितों के साथ ही उत्तराखंड आए यात्रियों को हर संभव सहयोग और सहायता दी जाए। आपदा की संवेदनशीलता को देखते हुए जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, जिला आपदा प्रबंधन, एसडीआरएफ (SDRF) एवं आपदा से सम्बंधित सभी विभागों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं।

भारी बारिश की वजह से उत्तराखंड में उपजे हालात पर सरकार ने लोगों को सलाह दी है कि वजह अनावश्यक यात्रा करने से बचें। चिंता जताई है कि लोग अब भी अनावश्यक यात्रा पर निकलने पर फिलहाल परहेज करे। खासकर कुमाऊं मंडल में अतिवृष्टि की अधिकता के कारण वहां अतिरिक्त एहतियात बरता जाए। रास्ते खुले होने की सूचना मिलने पर ही यात्रा पर निकलने की योजना बनाएं।