आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन ने रियाज नायकू के मरने के बाद गाजी हैदर को अपना नया कमांडर बनाया है। हैदर सरकारी नौकरी करने के कुछ साल बाद इस आतंकी संगठन का सदस्य बना गया था। वह दक्षिणी कश्मीर में सक्रिय रहा है। कश्मीर में बीते दिनों रियाज नायकू के मारे जाने के बाद उसे नया कमांडर बनाया गया है। इसी के साथ गाजी हैदर अब भारतीय सेना के लिए मोस्ट वांटेड बन चुका है।
एनकाउंटर में आतंकी रियाज नायकू के मारे जाने के बाद हिज्बुल मुजाहिदीन ने जम्मू कश्मीर में गाजी हैदर को संगठन का नया कमांडर बनाने का ऐलान किया है। बताया गया है कि हैदर का नाम सैफुल्लाह मीर भी है। वो एक डॉक्टर भी है। उसे 'डॉक्टर सैफ' और मुसाहिब के नाम से भी जाना जाता है। वो अक्सर पुलिस मुठभेड़ों में घायल होने वाले आतंकियों का इलाज भी करता है।

गाजी हैदर ने पुलवामा जिले के मलंगपोरा से 12वीं तक की पढाई की। स्कूल के बाद उसने प्रोफेशनल ट्रेनिंग ली और पुलवामा में ही सरकारी आईटीआई से बायो मेडिकल कोर्स किया। कुछ समय बाद वह श्रीनगर के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान में टेक्निशीयन के रूप में काम करने लगा। हैदर ने 3 साल तक नौकरी की थी लेकिन इसके बाद उसने आतंक को चुन लिया और दक्षिणी कश्मीर में अफीम की अवैध खेती करने वालों से वसूली करके आतंकी संगठन को देता था।

समाचार एजेंसी केएनएस के मुताबिक पाक अधिकृत कश्मीर के मुजफ्फराबाद में आयोजित शोक सभा के दौरान गाजी हैदर को जम्मू-कश्मीर का नया ऑपरेशनल चीफ कमांडर और जफर-उल-इस्लाम को डिप्टी कमांडर नियुक्त किया। इस ऐलान के बाद अब गाजी हैदर का नाम सुरक्षाबलों की हिटलिस्ट में शामिल हो गया है। गाजी हैदर को भारत के मोस्ट वांटेड आतंकी सैयद सलाहुद्दीन का खास कारिंदा माना जाता है। गाजी ज्यादातर दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा, कुलगाम और शोपियां जैसे जिलों में सक्रिय रहा है।
बुरहान वानी की मौत के बाद 17 अक्टूबर 2016 को जम्मू-कश्मीर में जाकिर मूसा को हिज्बुल मुजाहिदीन का नया कमांडर बनाया गया था और उसके बाद 2017 में रियाज नायकू हिज्बुल कमांडर बनाया था। रियाज एक प्राइ‌वेट स्कूल में मैथ्स का टीचर था, लेकिन 2012 में आतंकी संगठन में शामिल हो गया। उस समय वो 35 साल का था। उसके बारे में ये बात प्रचलित है कि वो सुरक्षाकर्मियों की हत्या में और सुरक्षा बलों पर हमले करके खुद को नायक की भूमिका में रखना पसंद करता था। खुद को इस पूरे मिशन का हीरो बनाने के लिए उसने पुलिस अफसरों के परिवार के लोगों का अपहरण करना शुरू किया था।

खुफिया जानकारी के मुताबिक अभी भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के केल और ताजियान में लश्कर आतंकियों का दो ग्रुप घुसपैठ की फिराक में है। पीओके के लीपा में 6 लश्कर आतंकी, पीओके के जाबरी में अल बदर के 4 आतंकी, पीओके के बत्तल में 5 अल बदर आतंकी घुसपैठ की तैयारी में हैं। भारतीय सेना आतंकियों को जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार है। अब सेना की नजर आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के नए कमांडर गाजी हैदर पर है।