भारत में हिंदू समुदाय के तीर्थयात्री आज पाकिस्तान (Pakistan) में पंजाब प्रांत के चकवाल जिले के लिए रवाना हो गए हैं। हिंदू तीर्थयात्री श्री कटास राज मंदिरों (Shree Katas Raj Temples) के दर्शन करेंगे। श्रद्धालु अमृतसर के दुर्गियाना मंदिर (Durgiana Temple) से रवाना हुए है।
नई दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग (Pakistan High Commission) ने हिंदू तीर्थयात्रियों को पाकिस्तान के चकवाल में श्री कटास राज मंदिरों में जाने के लिए 112 वीजा जारी किए थे। बताया जा रहा है कि तीर्थयात्री 23 दिसंबर को भारत लौटेंगे।
जानकारी के लिए बता दें कि कटास राज मंदिरों (Shree Katas Raj Temples) को किला कटास या कटास मंदिरों के परिसर के रूप में भी जाना जाता है। कटास राज मंदिर एक तालाब के चारों ओर हैं जिसे हिंदुओं द्वारा पवित्र माना जाता है। यह 12 हिंदू मंदिरों का एक परिसर है।
कहा जाता है कि मंदिरों को महाकाव्य महाभारत में जगह मिलती है। ऐसा माना जाता है कि पांडव भाइयों ने अपने वनवास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा मंदिर में बिताया था। यह यात्रा धार्मिक स्थलों की यात्रा पर पाकिस्तान-भारत प्रोटोकॉल, 1974 के तहत कवर की गई है।
नई दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग (Pakistan High Commission) ने कहा कि “उच्चायोग हिंदू तीर्थयात्रियों के लिए आध्यात्मिक रूप से लाभकारी तीर्थयात्रा की कामना करता है। पाकिस्तान पवित्र धार्मिक स्थलों को संरक्षित करने और सभी धर्मों के तीर्थयात्रियों को हर संभव सहायता देने के लिए प्रतिबद्ध है ”।