राज्य में भारी बारिश के कारण आयी बाढ़ से मची तबाही एवं जमीन कटाव से पीड़ित विभिन्न जिलों के आम नागरिक बेहद परेशान है और उसके ऊपर से महंगाई की मार से नागरिकों का जीना दुभर हो गया है, ऐसे समय में एक विधायक को अपने वेतन वृद्धि की चिंता खाये जा रही है. 

अपनी इस चिंता से ये विधयक इतने परेशान हो उठे हैं कि मन की बात विधानसभा में बोल बिना नहीं रहे सके ये महाशय कोई और नहीं बल्कि धिग क्षेत्र के एआईयूडीएफ के विधायक हैं जो विगत विधानसभा सत्र में खुद के भाषण को फेसबुक में लाइव कर फेमस हो गए हैं. 

गुरूवार को विधानसभा के शून्यकाल में विधायक अमीनुल ने विधायकों के वेतन का मुद्दा उठाया और कहा कि क्षेत्र में जाते ही खर्च बढ़ जाता है. फिर क्षेत्र में विधायको का कोई कार्यालय भी नहीं होता है.

 उन्होंने विधायक के वेतन में वृद्धि के पक्ष में कई तर्क भी दिए जिसके जवाब में वित्त मंत्री डॉ हिमंत विश्व शर्मा ने कहा कि  राज्य में बाढ़ से जनता बेहाल है ऐसे में विधायकों के वेतन की बात ना ही जाए तो बेहतर है उन्होंने कहा कि  विधायकों के वतन में वृद्धि का कोई भी फैसला विधानसभा की अमेनिटीज कमेटी ही देखती है. अगर इसके लिए स्वतंत्र आयोग का गठन भी किया जाता यही तो अमेनिटीज कमेटी को इस पर कोई आपत्ति नहीं होगी 

हिमंत ने कटाक्ष करते हुए कहा कि कई विधायक सरकारी पर भी बने हुए हैं तथा विधायक भी हैं वे अपनी सरकारी नौकरी से तथा पूर्व विधायक होने के नाते दोनों पेंशन भी ले रहे हैं.