लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कहा कि पूजा स्थलों समेत अन्य सार्वजनिक स्थलों पर ध्वनि विस्तारक यंत्रों के इस्तेमाल पर उच्च न्यायालय के दिशा निर्देशों का अक्षरश: पालन किया जायेगा। कुमार ने कहा कि सरकार और पुलिस मुख्यालय के स्पष्ट निर्देश है कि सभी त्योहार परंपरागत तरीके से मनाये जायें और जहां तक ध्वनि और आवाज आदि की बात है,उसमे हाईकोर्ट के आदेशों का अनुपालन हो। 

यह भी पढ़े : Diamond Crossing: भारत का अनोखा रेलवे ट्रैक, यहां चारों दिशाओं से आती है ट्रेनें फिर भी आज तक नहीं हुई कोई टक्कर

अलविदा की नमाज अथवा उससे पहले अन्य धर्मा के भी जो त्योहार हुये हैं, उसके अनुपालन में लगभग 37 हजार 344 धर्मगुरूओं से पुलिस प्रशासन की बात हो चुकी है जबकि कुछ धर्मगुरूओं से बात होना शेष है। पुलिस प्रशासन ने अब तक 125 लाउडस्पीकर निकलवा लिये हैं जबकि लगभग 17 हजार स्थानों पर लोगों ने पब्लिक एड्रेस सिस्टम की आवाज स्वेच्छा से कम की है। 

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें

उन्होने कहा कि अलविदा की नमाज लगभग 31 हजार जगहों पर होनी है। इसके अलावा 7500 ईदगाहों और 20 हजार मस्जिदों पर नमाज पढी जायेगी। संवेदनशील जिलों पर विशेष रूप से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। यहां 47-48 कंपनी पीएसी के अलावा स्थानीय पुलिस के जवान तैनात किये जा रहे हैं। अलविदा की नमाज को शांतिप्रिय तरीके से संपन्न कराने के लिये पीस कमेटी की बैठके हो चुकी है।