उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में नदी में लाशें मिलने के बाद एक तस्वीर ने इंसानियत की धज्जियां उड़ा दी है। इस मंजर को देखने के बाद पता चलता है कि वाकई इस दुनिया में इंसान पर कलयुग चरम पर पहुंच गया है। बता दें कि उत्तरकाशी में नदी में बह रही लाशों को आवारा कुत्ते खाते हुए एक वीडियो वायरल हो रहा हैं। कुत्तों के लाशों को नोचने का यह वीडियो भागीरथी के केदार घाट का बताया जा रहा है।


भागीरथी के केदार घाट के स्थानीय लोगों ने कहा कि हाल में कुछ दिनों से बारिश होने के चलते नदी का जलस्तर बढ़ गया है, जिसके कारण वो अधजली लाशें किनारों तक आ गई हैं, जिन्हें बिना जलाए या अधजली लाश को ही नदी में फेंक दिया होगा। पानी में पकता नहीं कहां कहां से क्षत विक्षत होकर किनारे पर आई बची हुई लाशों को अब कुत्तों का पेट भर रहा है।
 

 
स्थानीय लोगों ने आशंका जताई है कि ये लाशें कोविड ग्रस्त मृतकों की हो सकती है।  नगरीय प्रशासन को फौरन और कारगर एक्शन लेना चाहिए ताकि लाशों के ज़रिये संक्रमण फैलने की आशंका पैदा न हो।  नगर पालिका और ज़िला प्रशासन से बार बार शिकायतें किए जाने के बावजूद शवों का अंतिम संस्कार उचित तरीके से नहीं करवाया जा रहा है। लाशों को नदी में ऐसे ही फेंक रहे हैं और शमशान घाटों पर जली  और अधजली लाशों को नदी के हवाले कर रहे हैं।


नगर पालिका के प्रेसिडेंट रमेश सेमवाल ने कहा कि ''पिछले कुछ दिनों में हमारे इलाके में मौतें बढ़ीं और मुझे भी पता चला कि शवों को ठीक ढंग से जलाया नहीं गया ''। स्थानीय व्यक्तियों से इस तरह की शिकायतें मिलने पर केदार घाट पर अधजली लाशों के क्रियाकर्म और किनारे को धोने के लिए एक व्यक्ति की ड्यूटी लगाई गई है। अब इन लाशों का जिम्मेदार कौन है प्रशासन है या कोई और, जांच जारी है।