उत्तराखंड समेत देश के कई राज्यों में काम कर रही संस्था हिमालयन एंवायरमेंटल स्टडीज एंड कंजर्वेशन ऑर्गेनाइजेशन (हेस्को) को देश की प्रमुख प्रशासनिक संस्था भारतीय लोक प्रशासन संस्थान (आईआईपीए) ने लोक सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्यों के लिए पुरस्कार के लिए चुना है। बता दें कि यह पहला मौका है जब सार्वजनिक क्षेत्र में काम कर रही संस्थाओं को सम्मानित करने के लिए पहल की गई है। आयोजकों के मुताबिक हेस्को संस्था को यह पुरस्कार उसकी ओर से पिछले 35 साल से जनसेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्यों के लिए दिया जा रहा है।



इन राज्यों में हेस्को कर रही है काम

गौरतलब है कि हेस्को संस्था की ओर से उत्तराखंड समेत देश के कई हिमालयी राज्यों में करीब 35 साल से विभिन्न संसाधनों व तकनीक पर आधारित पारिस्थितिकी, आर्थिक विकास पर कार्य किया जा रहा है। हेस्को उत्तराखंड के अलावा जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश और असम जैसे राज्यों में कार्य कर रही है। हेस्को मुख्य रूप से ग्रामीण स्तर पर तकनीक विकसित कर ग्रामीणों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने पर काम कर रही है।


इन मुद्दों पर करती है काम
संस्था का कार्यक्षेत्र कृषि आधारित कार्य जिनमें मुख्यत: परंपरागत फसलों को पुनर्जीवित करना एवं उसके उत्पादों का वैल्यू एडिशन कर किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है। इसके अलावा अनाजों से निर्मित प्रसाद को मंदिरों से जोड़कर स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मुहैया कराए जा रहे हैं। संस्था की ओर से ग्रामीण आधारित फल प्रसंस्करण इकाइयों का गठन एवं प्रशिक्षण, पनचक्कियों (घराट) का उच्चीकरण और उन्हें बहुउपयोगी बनाया जा रहा है। इसके साथ ही संस्था की ओर से जलस्रोतों एवं नदियों को पुनर्जीवित करने के लिए भी तमाम कार्य किए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि हेस्को ने पहली बार छोटे पुलों का निर्माण किया ताकि लोगों को आवाजाही में सुविधाएं मिल सके।



हेस्को के साथ नागालैंड की एक संस्था को भी मिलेगा पुरस्कार

इतना ही नहीं संस्था की ओर से सकल पर्यावरण उत्पाद (जीईपी), हिमालय दिवस, गांव बचाओ जैसे सकारात्मक आंदोलनों की भी शुरुआत की गई। संस्था के कार्यों को देखते हुए ही आईआईपीए की चयन विशेषज्ञ समिति ने संस्था को चयनित किया गया है। संस्था पदाधिकारियों को यह पुरस्कार 26 अक्तूबर को लोक प्रशासन संस्थान नई दिल्ली में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की उपस्थिति में प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार हेस्को के साथ ही नागालैंड की एक संस्था को भी प्रदान किया जाएगा। उस संस्था ने राज्य के लोगों के बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया है। वहीं हेस्को के संस्थापक अध्यक्ष पद्मश्री अनिल प्रकाश जोशी ने इस के लिए चयनित होने पर इसे बड़ी उपलब्धि बताया है।