राजस्थान सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के वेतन से की जाने वाली कटौती को बढ़ा दिया है. वित्त विभाग के रूल्स डिवीजन द्वारा बुधवार को जारी किये गये आदेश के अनुसार 1 जनवरी 2004 से पहले नियुक्त कर्मचारियों की मई से हर महीने की सैलेरी से पहले की तुलना में अधिक राशि की कटौती होगी,यह बढ़ोतरी मासिक सब्सक्रिप्शन की राशि में की गई है।


यह कटौती बेसिक पे के आधार पर अलग-अलग दर से वेतन से की जायेगी।

बेसिक पे - पहले कटौती - अब कटौती

(प्रतिमाह) - (प्रतिमाह)

18000 रुपये तक - 242 रुपये - 265 रुपये


18000-33500 रुपये तक - 402 रुपये - 440 रुपये

33500-54000 रुपये तक - 602 रुपये - 658 रुपये

54000 से अधिक - 800 रुपये - 875 रुपये


पांचवां और छठा वेतनमान ले रहे कर्मचारियों के लिए भी इतनी कटौती की गई है। प्रदेश के करीब 8.5 लाख सरकारी कर्मचारियों पर इसका असर पड़ेगा।


वित्त विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पेंशनर्स मेडिकल फंड के लिए इस कटौती को बढाया गया है। लगभग पौने चार लाख पेंशनर्स अपनी मेडिकल सुविधाओं के लिए आरपीएमएफ पर निर्भर हैं। जबकि यह कोष वित्तीय क्राइसिस से गुजर रहा है। इस कारण पेंशनर के करोड़ों के बिल फिलहाल लंबित चल रहे हैं।