झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पंचम विधानसभा के आज से शुरू हुए पहले सत्र में दुमका सीट छोड़ बरहेट से सदन की सदस्यता की शपथ ली। सभा के कार्यवाहक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) प्रो. स्टीफन मरांडी ने मुख्यमंत्री श्री सोरेन को बरहेट से विधानसभा सदस्य के रूप में शपथ दिलाई।

सोरेन ने दुमका सीट से पहले इस्तीफा दिया और इसके बाद बरहेट से विधायक के रूप में शपथ ग्रहण की। मुख्यमंत्री ने प्रोटेम स्पीकर का अभिवादन किया और पंचम विधानसभा के लिए सभी निर्वाचित सदस्यों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उल्लेखनीय है कि इस बार के विधानसभा चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) प्रत्याशी के रूप में श्री सोरेन ने दुमका और बरहेट से चुनाव लड़ा और दोनों सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवारों को पटखनी देकर जीत दर्ज की।

बरहेट में श्री सोरेन ने भाजपा उम्मीदवार सिमॉन मालटो को जहां 25740 मतों से वहीं दुमका में तत्कालीन समाज कल्याण मंत्री डॉ. लुईस मरांडी को 13188 मतों के अंतर से पराजित कर दिया। इससे पूर्व वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में भी श्री सोरेन ने दोनों सीट से चुनाव लड़ा था। वह बरहेट से तो जीते लेकिन दुमका में डॉ. लुईस ने उन्हें 4914 मतों के अंतर से पराजित कर दिया था।

सोरेन के शपथ लेने के बाद हेमंत मंत्रिमंडल में शामिल सदस्यों कांग्रेस के आलमगीर आलम एवं प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव तथा चतरा से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधायक सत्यानंद भोक्ता को विधानसभा की सदस्यता की शपथ दिलायी गयी। इसके बाद विधानसभा क्षेत्र के क्रम संख्या के अनुसार सभी नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलायी गई।

इस दौरान बहरागोड़ा से झामुमो विधायक समीर मोहंती सत्र में उपस्थित नहीं हो सके। इसका कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं है। वहीं, भाजपा विधायक दल के नेता का चुनाव अभी तक नहीं हुआ है। पार्टी ने 14 जनवरी के बाद विधायक दल के नेता का चुनाव करने का फैसला किया है। शपथ ग्रहण के बाद कार्यवाहक अध्यक्ष श्री मरांडी ने सभा की कार्यवाही मंगलवार पूर्वाह्न 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

पुराने विधानसभा भवन में आज से आहूत विशेष सत्र 08 जनवरी 2020 तक चलेगा। मंगलवार को सत्र के दूसरे दिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बतौर वित्त मंत्री सदन के पटल पर 2019-20 के लिए दूसरा अनुपूरक बजट पेश करेंगे। इसी दिन राज्यपाल का अभिभाषण होगा। इसके बाद 08 जनवरी को राज्यपाल के अभिभाषण और अनुपूरक बजट पर बहस होगी।