कई वर्षों में ऐसा पहली बार होगा, जब मानसून निर्धारित समय से पहले आ गया है। धीरे-धीरे मानसून देश के कोने-कोने तक पहुंच रहा है। तीन जून को केरल में पहुंचने के बाद कई राज्यों में मानसूनी बारिश हो चुकी है। पूरा दक्षिण मानसून की झमाझम बारिश में भीग चुका है। 

उधर महाराष्ट्र भी भारी बारिश के चलते पानी-पानी हो गया है। मानसून के यहां पहुंचने के बाद आर्थिक राजधानी मुंबई समेत कई इलाकों में जलभराव जैसी दिक्कतों का लोगों को सामना करना पड़। वहीं कई राज्यों में प्री-मानसून गतिवधियां भी तेजी हो गई है। मध्य प्रदेश में तो समय से पहले ही मानसून पहुंच चुका है, जिसके बाद यहां पर झमाझम मेघा बरसें। वहीं उत्तर भारत में आज या कल तक मानसून पहुंच जाएगा। मौसम विभाग की तरफ से दो तीन पहले ही इसकी भविष्यवाणी करते हुए कहा गया था कि दिल्ली-हरियाणा और पंजाब में 13-14 जून को मानसून पहुंच जाएगा। 13 जून को हरियाणा के रोहतक समेत कई इलाकों में बारिश होने के बाद मौसम सुहाना हो गया।

दक्षिण पश्चिम मॉनसून रविवार को चंडीगढ़ एवं पंजाब हरियाणा के कुछ हिस्सों में समय से पहले पहुंच गया है और मौसम विभाग ने अगले आज और कल दो दिनों में भारी बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है। विभाग ने कहा कि अगले दो दिनों के दौरान दोनों प्रदेशों के और कुछ हिस्सों में मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार हरियाणा एवं पंजाब के कई हिस्सों में 14 जून को हल्की से मध्यम बारिश एवं गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान है।