मध्यप्रदेश में कई स्थानों पर हुई मामूली बारिश के बीच अगले चौबीस घंटों के दौरान कई स्थानों पर भारी व कई स्थानों पर हल्की बारिश के आसार हैं। राज्य के पश्चिमी क्षेत्र में आने वाले रायसेन, शिवपुरी, ग्वालियर, श्योपुर, मुरैना, अशोकनगर, विदिशा, दतिया, मंदसौर, राजगढ़, खरगोन, भोपाल, होशंगाबाद व भिंड जिले में आने वाले कई स्थानों पर बीते चौबीस घंटों के दौरान मामूली वर्षा दर्ज की गई। इसी तरह राज्य के पूर्वी हिस्से में आने वाले बालाघाट, छिंदवाड़ा, दमोह, छतरपुर, मंडला, सिवनी, जबलपुर, सागर, कटनी, सीधी, नरसिंहपुर, अनूपपुर, पन्ना, डिंडौरी, टीकमगढ़ व शहडोल जिले में आने वाले कई स्थानों पर भी मामूली वर्षा दर्ज हुई है। 

भोपाल मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक पी के साहा ने यूनीवार्ता को बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने के कारण राज्य के जबलपुर व शहडोल संभाग के जिलों में अगले चौबीस घंटों के दौरान अधिकांश स्थानों पर बारिश होने के आसार है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव क्षेत्र की गतिविधियां प्रारंभ हो रही है और इसके प्रभाव से इन संभागों में अधिकांश स्थानों पर वर्षा का अनुमान है। उन्होंने बताया कि वर्षा की गतिविधियां एक बार फिर सक्रिय हो रही है। सबसे पहले इसका असर जबलपुर व शहडोल संभाग पर पड़ेगा। 

12 जुलाई से पूरे मध्यप्रदेश में वर्षा की संभावना है। बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बन जाने से 16 जुलाई तक राज्य भर में अच्छी बारिश का अनुमान है। उन्होंने बताया कि भोपाल, होशंगाबाद, रीवा एवं सागर संभागों के जिलों अनेक स्थानों पर, उज्जैन, इंदौर एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं तथा ग्वालियर संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ वर्षा हो सकती है। उन्होंने बताया कि राज्य के शहडोल, होशंगाबाद संभाग के जिले के साथ ही कटनी, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, मंडला, विदिशा व रायसेन में भारी वर्षा के आसार हैं। 

इसके अलावा रीवा, शहडोल, सागर, जबलपुर, ग्वालियर, भोपाल एवं होशंगाबाद संभागों के जिलों में गरज चमक के साथ बिजली गिरने का अनुमान है। साहा ने बताया कि राज्य में वर्षा की गतिविधियां में बढोत्तरी होने वाली है। इससे यह स्थिति सामने आयी है। राजधानी भोपाल में आज मौसम का मिजाज सुबह से दोपहर तक शुष्क बना रहा। शाम के समय आसमान में बादल छाये रहे। यहां चौबीस घंटों के दौरान वर्षा की संभावना है।