चक्रवात और पश्चिमी डिस्टरबेंस के चलते अगले पांच दिनों में उत्तर और उत्तर पश्चिमी राज्यों में मौसम का मिज़ाज बहुत ही अलग है। बादल हैं लेकिन बारिश के आसार नहीं दिख रहे हैं। कुछ राज्यों में बुंदाबंदी देखी है लेकिन कहीं भी भारी बारिश नहीं हुई है। दूसरी ओर उत्तराखंड के देवप्रयाग में बादल फटने की घटना के बाद भारी से बहुत भारी बारिश होने की चेतावनी दी जा रही है।

मौसम विभाग ने बताया है कि उत्तर काशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, पौड़ी गढ़वाल, नैनीताल जैसे इलाकों में मूसलाधार बारिश हो सकती है। बाकि राज्यों में भी मौसम संबंधी चेतावनियां जारी की गई हैं। विभाग ने बताया है कि उत्तराखंड के अलावा बाकी राज्यों में बारिश हो सकती है और कुछ जगहें बुंदाबांदी हो सकती है। उत्तराखंड के कुछ ज़िलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।


वेदर.कॉम की भविष्यवाणी के अनुसार पाकिस्तान के पास समुद्र में बन रहे विक्षोभ के चलते गर्मी के इस मौसम में उत्तरी भारत में बारिश के हालात बन रहे हैं। हिमालयीन राज्यों में दो दिन तक भारी बारिश के आसार हैं तो दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में इस दौरान आंधी और बारिश की भविष्यवाणी है। हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में अगले तीन दिनों के दौरान भारी बारिश और बर्फबारी तक की चेतावनी दी गई है।