कनाडा के पैसिफिक नॉर्थवेस्ट में अभूतपूर्व हीटवेव के कारण सिर्फ एक हफ्ते में 700 से अधिक लोगों की मौत हो गई है।  जबकि लिटन गांव में गर्मी से भड़की भीषण आग के कारण दो लोगों की मौत हो गई है।  ब्रिटिश कोलंबिया में इस सप्ताह से पहले रिकॉर्ड उच्च तापमान 49.6 डिग्री सेल्सियस था। 

कनाडा के पश्चिमी भाग, विशेष रूप से ब्रिटिश कोलंबिया (बीसी) के हीटवेव प्रभावित पश्चिमी भाग में सौ से अधिक जंगल की आग ने लगभग 90 प्रतिशत लिटन को नष्ट कर दिया है।  बढ़ते संकट को देखते हुए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने रिस्पॉन्स टीम के साथ एक आपात बैठक की।  इसमें उन्होंने हीटवेव का मुकाबला करने के तरीकों पर चर्चा की, और खास तौर से ब्रिटिश कोलंबिया पर ध्यान केंद्रित किया।  लिटन और उसके आसपास की चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के कारण, जांचकर्ता गांव में दो लोगों की मौत की पुष्टि करने में असमर्थ रहे हैं। 

27 जून से 29 जून तक लिटन में तीन दिनों के रिकॉर्ड तापमान के बाद, इसके निवासियों को 30 जून को वहां से बहार निकाला गया और क्षेत्र के आसपास के लगभग 1,000 निवासियों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया।  ब्रिटिश कोलंबिया वाइल्डफायर सर्विस ने जंगल की आग की स्थिति को नियंत्रण से बाहर बताया और अनुमान लगाया कि इसने लगभग 6,400 हेक्टेयर क्षेत्र को कवर किया है। 

ब्रिटिश कोलंबिया चीफ कोरोनर लिसा लापोइंट ने कहा कि 1 जुलाई खत्म हुए हफ्ते में प्रांत में 719 मौतें दर्ज की गईं, जो औसत से तीन गुना अधिक है। उन्होंने कहा कि हम मौतों कि जानकारी को जारी कर रहे हैं, क्योंकि पिछले सप्ताह ब्रिटिश कोलंबिया ने जिस भीषण गर्म मौसम का अनुभव किया है, वह मौतों की बढ़ती संख्या के लिए एक महत्वपूर्ण कारण रहा है। यह संख्या अभी प्रारंभिक है और हमारे सिस्टम में अतिरिक्त मौतों के दर्ज होने के कारण इसमें वृद्धि हो सकती है।  बीसी वाइल्डफायर सर्विस ने कहा कि प्रांत में 136 जंगलों में आग लगी है।  इनमें से 9 पर विशेष ध्यान दियाजा रहा है क्योंकि इनसे लोगों की सुरक्षा को खतरा है।