देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक HDFC Bank अपने शेयर होल्डर्स के लिए जबरदस्त ऐलान किया है। यह बैंक उन्हें 1550% का डिविडेंड देने जा रहा है। बैंक के बोर्ड ने 31 मार्च 2022 को समाप्त हुए वित्त वर्ष के लिए 1 रुपये की फेस वैल्यू एक शेयर पर यह डिविडेंड देने की मंजूरी दी है। एचडीएफसी बैंक ने पिछले 11 साल में यह सबसे अधिक डिविडेंड देने का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें : गर्मियों में है सिक्किम में सुकून, दोस्तों के साथ प्लान कर सकते हैं ट्रिप

बैंक ने बीएसई को दी अपडेट में कहा कि उसके बोर्ड ने 23 अप्रैल की बैठक में प्रति शेयर 15.50 रुपये का डिविडेंड देने के फैसले को मंजूरी दे दी। बैंक के 1 रुपये की फेस वैल्यू के शेयर पर यह 1550% का रिटर्न है। हालांकि इस फैसले पर अभी बैंक की सालाना आम बैठक (AGM) में अंतिम मंजूरी ली जानी बाकी है। 

बताया गया है कि डिविडेंड के लिए 13 मई 2022 की रिकॉर्ड डेट तय की गई है। जिन निवेशकों के पास इस तारीख को बैंक के शेयर होंगे, वो डिविडेंड पाने के हकदार होंगे। पिछले हफ्ते एचडीएफसी बैंक ने जनवरी-मार्च तिमाही के परिणाम जारी किए थे। इस दौरान बैंक का शुद्ध लाभ सालाना आधार पर 23% बढ़कर 10,055.20 करोड़ रुपए रहा था। जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष 2020-21 की इसी अवधि में बैंक का मुनाफा 8,187 करोड़ रुपये था।

यह भी पढ़ें : अरुणाचल प्रदेश के अंकल मूसा को मिलेगा 25वां महावीर पुरस्कार

गौरतलब है कि हाल में एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी लिमिटेड के विलय की घोषणा की गई है। आने वाले समय में इस समूह के लाभ और हानि का आकलन विलय के बाद की परिस्थिति के हिसाब से होगा। दोनों के विलय के बाद जब लगातार कंपनी के शेयर में गिरावट देखी गई, तब एचडीएफसी लिमिटेड के वाइस प्रेसिडेंट और सीईओ केकी मिस्त्री ने कहा था कि चौथी तिमाही के परिणाम आने की वजह से कुछ बाध्यताएं थीं। इसके कारण कंपनी विलय के लाभ को लेकर सही तरीके बात नहीं रख पाई।