देश में कोरोना वायरस की नई लहर कहर बनकर टूटी है। हर ओर हाहाकार मचा है, अस्पतालों में बेड्स नहीं हैं, कई जगहों पर ऑक्सीजन की कमी आ गई है। हर रोज लोगों की जान जा रही है। इस महासंकट के बीच दिल्ली में लॉकडाउन भी लग गया है। ऐसे में हर दिन कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण अब दिल्ली समेत आसपास के इलाकों में बेड्स की शॉर्टेज होने लगी है। यही कारण है कि इमरजेंसी तौर पर अतिरिक्त बेड्स की व्यवस्था की जा रही है। 

दिल्ली में मरीजों की संख्या हर दिन जिस तरह बढ़ रही है, उसके कारण बेड्स तेजी से भर रहे हैं। खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी कह चुके हैं कि दिल्ली का हेल्थ सिस्टम अब अपनी पीक पर पहुंच चुका है, ऐसे में अतिरिक्त बेड्स की जरूरत है। दिल्ली सरकार की वेबसाइट के मुताबिक, दिल्ली में अब सिर्फ ढाई हजार के करीब कोरोना स्पेशल बेड्स बचे हैं। वहीं, आईसीयू बेड्स की संख्या तो 40 तक पहुंच गई है। 

दिल्ली में कुल बेड: 19600, खाली बेड: 2462

दिल्ली में ICU बेड: 4437, खाली बेड: 40 

दिल्ली में तेजी से कम होती बेड्स की संख्या के बीच अतिरिक्त बेड्स की व्यवस्था की जा रही है। DRDO के द्वारा बीते दिन एक अस्थाई अस्पताल बनाया गया, वहां 500 बेड्स की व्यवस्था है। दिल्ली सरकार ने कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में 400 बेड्स की व्यवस्था की है। इसके अलावा भी कई बैंकट हॉल, स्कूल और अन्य जगहों पर बेड्स की व्यवस्था की जा रही है।