आयरलैंड को भारत के खिलाफ जीत के लिए अंतिम ओवर में 17 रनों की जरूरत थी, ऐसे में भारतीय टीम की तरफ से युवा तेज गेंदबाज उमरान मलिक को अंतिम ओवर की जिम्मेदारी सौंपी गई। गेंदबाज ने एक नो बॉल, दो बैक-टू-बैक बाउंड्री, दो सिंगल और एक वाइड देकर ओवर में 12 रन लुटाए, इसके बावजूद भारतीय टीम ने चार रन से मैच को जीत लिया। हालांकि, इस जीत के साथ भारतीय टीम ने दो टी20 मैचों की सीरीज को भी 2-0 से जीत लिया।

ये भी पढ़ेंः कच्ची हल्दी के लाखों फायदे, कैल्शियम, आयरन और विटामिन्स का अथाह भंडार


कप्तान हार्दिक पांड्या ने मलिक को अंतिम ओवर देने के बाद कहा, मलिक ने अच्छी गेंदबाजी की। टीम का स्कोर अच्छा था, इसके बावजूद आयरलैंड ने लक्ष्य का पीछा किया और सिर्फ शेष चार रन की वजह से हार गई। इस दौरान मलिक ने सही लेंथ और लाइन के साथ गेंदबाजी की। वे अपनी गति के लिए जाने जाते हैं। मैंने गेंदबाजी के लिए उमर का समर्थन किया। उनकी गेंदबाजी की वजह से बल्लेबाजों में डर रहता है, जिससे उन्हें गेंद को हिट करना मुश्किल होता है।

ये भी पढ़ेंः बिहार में ओवैसी को लगा सबसे बड़ा झटका, 5 में से 4 विधायक हुए तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ


कप्तान ने आगे कहा, मलिक के अलावा ऑलराउंडर दीपक हुड्डा ने सीरीज की दोनों पारियों में बेहतरीन खेला। शीर्ष क्रम में दोनों मैचों में नाबाद 47 और 104 रन बनाए। उन्होंने कहा टीम में युवाओं का प्रदर्शन उन्हें गर्व महसूस कराता है। बचपन में देश के लिए खेलना हर किसी का सपना होता है। हुड्डा के लिए यह खुशी की बात है। पांड्या ने कहा, टीम में दिनेश कार्तिक और संजू सैमसन भी शामिल थे, सैमसन ने शीर्ष क्रम पर शानदार पारी खेली, उन्होंने 77 रन बनाए, जो टीम के लिए महत्वपूर्ण साबित हुए। आयरलैंड के खिलाफ अंतिम ओवर में मलिक ने डेथ ओवरों के विशेषज्ञ तेज गेंदबाज हर्षल पटेल की प्रशंसा की।