वाराणसी में कोर्ट के आदेश के बाद ज्ञानवापी मस्जिद  में हो रहे सर्वे में पहले दिन की कार्यवाही पूरी हो गई है. पहले दिन चार तहखानों और पश्चिमी दीवार का सर्वे किया गया. रविवार को भी सर्वे का काम जारी रहेगा. इसी बीच एआईएमआईएम  चीफ असदुद्दीन ओवैसी  ने कहा कि बाबरी छीनी, ज्ञानवापी नहीं छीन पाओगे. ज्ञानवापी मस्जिद थी और रहेगी.

यह भी पढ़े : अपनी प्रेमिका को प्यार में धोखा देने की सजा, युवक ने नदी में कूदकर कर ली आत्महत्या


असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं सरकार को बताना चाहता हूं कि हमने एक बाबरी मस्जिद को खोया है, दूसरी मस्जिद को हरगिज नहीं खोएंगे. तुमने मक्कारी और अय्यारी से इंसाफ को कत्ल करके हमारी मस्जिद को छीना. दूसरी मस्जिद नहीं छीन पाओगे, याद रखना. इससे पहले ओवैसी ने मस्जिद में सर्वे के आदेश को असंवैधानिक बताया था.

यह भी पढ़े : Today's Lucky Zodiac Signs: ये हैं आज 14 मई की लकी राशियां, इन राशि वालों को लाभ होगा, इनको सावधान रहने की सलाह


ओवैसी ने कहा कि मैं बड़ी जिम्मेदारी से कह रहा हूं कि ज्ञानवापी मस्जिद थी, है और रहेगी. उन्होंने 1991 के प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट का हवाला देते हुए कहा कि 1991 का कानून कहता है कि 15 अगस्त 1947 को जो मस्जिद थी वो बरकरार रहेगी. अगर कोई उसके नेचर और कैरेक्टर में तब्दीली करना चाहेगा तो 1991 का संसद का कानून कहता है कि उसपर केस करो. 

यह भी पढ़े : IPL 2022: सीएसके एमएस धोनी ने मुंबई इंडियंस के कुमार कार्तिकेय को दिया इतना बड़ा तोहफा, आप भी देखिए 


असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं सरकार को बताना चाहता हूं कि हमने एक बाबरी मस्जिद को खोया है, दूसरी मस्जिद को हरगिज नहीं खोएंगे. तुमने मक्कारी और अय्यारी से इंसाफ को कत्ल करके हमारी मस्जिद को छीना. दूसरी मस्जिद नहीं छीन पाओगे, याद रखना.

बता दें कि इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश असंवैधानिक है. इस तरह का आदेश नहीं दिया जाना चाहिए था. बाबरी मस्जिद पार्ट-2 की ये तैयारी हो रही है. ये इसकी ओर बढ़ता हुआ पहला कदम है. इसके पीछे साजिश है.