गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत अपने एक बयान की वजह से विवादों में आ गए हैं। उन्होंने बुधवार को हिंदुओं को लेकर विवादित बयान दिया है। आचार्य देवव्रत ने अपने बयान में हिंदुओं को 'नंबर-1 ढोंगी' बताया। उन्होंने यह बयान नर्मदा जिले के पोइचा गांव में 'जैविक खेती' के विषय पर आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए दिया।

यह भी पढ़ें- कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न से संबंधित शिकायतों के लिए समिति गठित

राज्य के दो प्रमुख समाचार पत्रों ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत को बयान का उल्लेख किया  है। जिसमें उन्होंने कहा, 'लोग 'जय गौ माता' का जाप करते हैं। वे गाय को दूध देने तक गौशाला में रखते हैं। एक बार जब वह दूध देना बंद कर देती है, तो वे उसे सड़कों पर छोड़ देते हैं। इसलिए मैं कहता हूं कि हिंदू नंबर-1 के ढोंगी हैं। हिंदू धर्म और गाय आपस में जुड़े हुए हैं, लेकिन यहां लोग स्वार्थ के लिए 'जय गौ माता' का जाप करते हैं।'

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने NSCN(K) निकी समूह के साथ संघर्ष विराम बढ़ाया

उन्होंने आगे कहा, 'लोग भगवान से प्रार्थना करने के लिए मंदिरों, मस्जिदों, चर्च, गुरुद्वारा जाते हैं, ताकि भगवान उन्हें आशीर्वाद दें। मैं कहता हूं कि अगर आप जैविक खेती की ओर बढ़ते हैं, तो भगवान आपसे ऐसे ही प्रसन्न हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं वैज्ञानिक प्रमाणों के साथ कह रहा हूं कि रासायनिक खाद के प्रयोग से आप पशुओं को मार रहे हैं। अगर आप जैविक खेती अपनाते हैं, तो इससे आप पशुओं को जीवन देंगे।