गुजरात आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) (Gujarat ATS) ने मोरबी जिले के जिंजुदा गांव से करीब 600 करोड़ रुपये मूल्य की 120 किलोग्राम हेरोइन (Heroin) जब्त की है और इस सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार रविवार को जब्त किया गया मादक पदार्थ गुजरात के रास्ते अफ्रीका ले जाया जा रहा था।

मीडिया को संबोधित करते हुए, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी), आशीष भाटिया (DGP Ashish Bhatia) ने कहा, खुफिया इनपुट के आधार पर, गुजरात एटीएस (Gujarat ATS) को पता चला कि ड्रग्स यहां लाए जा रहे थे। इस जानकारी के आधार पर, एटीएस की एक टीम ने मुख्तार हुसैन सैयद के घर पर छापा मारा। मोरबी जिले के मालिया-मियाना के जिंजुदा गांव में और 120 किलोग्राम हेरोइन बरामद की, जिसकी अनुमानित अंतर्राष्ट्रीय कीमत 600 करोड़ रुपये है।

उन्होंने कहा, हमने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें जामनगर के जोदिया निवासी मुख्तार हुसैन, जिंजुडा, मोरबी के निवासी शमशुद्दीन हुसैनमिया सैयद और सलाया, देवभूमि द्वारका के गुलाम हुसैन उमर भगद शामिल हैं। उन्होंने कहा, ड्रग की खेप पाकिस्तान निवासी जाहिद बशीर बलूच द्वारा भेजी गई थी। बलूच राजस्व खुफिया निदेशालय (Directorate of Revenue Intelligence) द्वारा दर्ज 227 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती के एक पूर्व मामले में फरार था। वर्तमान खेप अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में देवभूमि द्वारका जिले के सलाया में वितरित की गई थी। नशीले पदार्थों को शुरू में छिपाया गया था और बाद में जिंजुदा गांव ले जाया गया। खेप को गुजरात मार्ग से अफ्रीका भेजने का इरादा था। पूछताछ के दौरान, यह पता चला कि आरोपी व्यक्तियों ने खेप का दुरुपयोग करने और इसे भारत में खरीदारों को बेचने का फैसला किया। उन्होंने कहा, हमें इस मामले में गुजरात में दो अन्य लोगों को गिरफ्तार करना बाकी है।