इक्वाडोर में दक्षिणपंथी ‘क्रिएटिंग ऑपरच्यूनिटीज’ पार्टी के उम्मीदवार गुइलेर्मो लासो राष्ट्रपति चुने गए हैं। अब इक्वाडोर को एक नया राष्ट्रपति मिल गया है। निकटवर्ती देश पेरू में 18 में से किसी भी उम्मीदवार को 50 प्रतिशत से अधिक मत नहीं मिले है। अब मुकाबला शीर्ष दो उम्मीदवारों के बीच होगा। दोनों दक्षिणअमेरिकी देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर कड़े जन स्वास्थ्य सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए मतगणना हुई है।


बता दें कि इक्वाडोर में पूर्व बैंकर लासो ने अपने प्रतिद्वंद्वी एवं निवर्तमान राष्ट्रपति आंद्रेस अराउज को कड़े मुकाबले में मात देकर जीत अपने हिस्से में कर ली है। देश में लंबे समय से चला आ रहा वामदल ‘सिटीजन रेवोल्यूशन मूवमेंट’ का करीब एक दशक पुराना शासन खत्म हो गया है। बैंकर लासो ने जीत की खुशी जाहिर करते हुए कहा कि ‘‘पहला कदम अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना, निवेश बढ़ाना और रोजगार पैदा करना है ’’।


लासो ने आगे कहा कि इक्वाडोर के लोग विदेश नहीं जाएं, इक्वाडोर में रहें और यहां रह कर अपने परिवारों के लिए देखे गए सपने पूरे करें, इसिलए यहां रोजगार को उत्पन्न करना बहुत ही जरूरी है ’’। जानकारी के लिए बता दें कि  इक्वाडोर में चुनाव अधिकारियों ने विजेता की घोषणा नहीं की।