गुवाहाटी । कार्य संस्कृति संस्कृति को बढावा देकर राज्य को विकास के मार्ग पर ले जाने के लिए मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने अपने सभी कर्मचारियों से अपील की है। उन्होंने कहा की राज्य सरकार के कर्मचारियों को कार्य संस्कृति एक उदाहरण पस्तुत करना होगा ताकि आने वाली पीढ़ी उससे प्रेरणा ले सके। सोनोवाल पंजाबाडी में अखिल असम कर्मचारी परिषद के केंद्रीय कर्यालय कर्मचारी भवन को आधारशिला रखने के बाद एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के कर्मचारी ही क्यों, स्वयं मुख्यमंत्री को भी प्रतिदिन कम से कम आठ घंटे काम करना होगा। सभी कर्मचारी एक जुट होकर निर्धारित समय तक काम करें तो राज्य को विकास के मार्ग पर सरपट दौड़ने से कोई नहीं रोक सकता । असम को देश के श्रेष्ठ राज्य में शुमार करने के लिए हमें आर्थिक सामाजिक विकास करना होगा और इसके लिए कार्य संस्कृति का सुदृढ़ होना बहुत जरूरी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस भवन के बन जाने से राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए उनका सांगठनिक काम-काज करना आसान हो जायगा । इस भवन के बनने से यहां बैठक- अधिवेशन आदि भी आयोजित किए जा सकेगे । उन्होंने अपने कर्मचारियों से प्रशासन के विभिन्न स्तरों में व्याप्त भ्रष्टाचार को खत्म करने की भी अपील की । राज्य को भ्रष्टाचार, आतंकवाद, प्रदुषण और विदेशी मुक्त  बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने अपने कर्मचारियों से सरकार के साथ कंधे से  कंधा मिलाकर चलने के जरूरत बताई ।

उन्होंने अगले साल फरवरी में होने वाले वैश्विक निदेशक सम्मेलन की चर्चा करते हुए कहा कि राज्य में बड़े  पैमाने पर निवेश लाने के लिए इस सम्मेलन को सफल बनाना जरूरी है। इसके लिए राज्य सरकार बाहरी राज्यों  के अलावा विदेशों में भी रोड शो कर रही है। निवेशकों के समक्ष राज्य की एक संभावनापूर्ण -ज्ञशानदार तस्वीर प्रस्तुत करने के लिए उन्होंने अपने सभी कर्मचारियों से सहयोग की अपील की ।

अखिल असम कर्मचारी परिषद के अध्यक्ष वासव ललिता ने भवन निर्माण के लिए दी गई मदद के लिए सरकार को धन्यवाद दिया । उन्होंने उम्मीद जताई कि लोक निर्माण विभाग इस भवन के निर्माण के दौरान गुणवत्ता का ध्यान रखेगा । उन्होंने इसके लिए 8.85 करोड़ का अनुदान देने के लिए डोनर मंत्रालय के प्रति आभार व्यक्त किया । इस मौके पर राभा हासोंग स्वायत्तशासी परिषद के टंकेश्वर राभा , हाउसफेड के अध्यक्ष रंजीत दास, विधायक रनोज पेगू, बिमल बोरा, लोक निमणि विभाग के आयुक्त सचिव जेए अहमद आदि उपस्थित थे ।