मणिपुर की राजधानी इंफाल के एक मेला स्थल पर शुक्रवार रात ग्रेनेड फेंकने से हुए विस्फोट में दो बच्चों सहित करीब 11 लोग घायल हो गए।

अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि कुछ घायलों को प्राथमिक चिकित्सा के बाद छुट्टी दे दी गई, जबकि कुछ गंभीर रूप से घायल हैं।

पुलिस ने कहा कि स्कूटर पर आए दो युवकों ने टेरा में मेला स्थल पर चीन निर्मित हैंड ग्रेनेड फेंक दिया।

घटनास्थल के नजदीकी पुलिस थाने के कर्मी तत्काल वहां पहुंचे। हालांकि इस मामले में अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मेले का आयोजन पूर्वोत्तर मेला एसोसिएशन (एनईएमए) द्वारा मणिपुर के सबसे बड़े सामाजिक त्योहार निंगोल चकौबा से पहले आयोजित किया गया था, जो अगले सप्ताह मनाया जाएगा।

नेमा के सचिव गितचंद्रा लेशांगथेम ने कहा, 'मेला औपचारिक रूप से रविवार सुबह से शुरू होने वाला था। शुक्रवार की रात जब विस्फोट हुआ, तो मेले में दुकान लगाने वाले व्यापारी अपनी दुकानों में सामान और होर्डिंग्स लगाने में व्यस्त थे।'

अभी तक किसी समूह ने विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है।

आयोजकों ने हालांकि मेला बंद नहीं किया है, लेकिन यहां के व्यापारी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।

मणिपुर में 'बेहतर कानून और व्यवस्था' के मद्देनजर सरकार दो अक्तूबर से इंफाल शहर में स्थित कांगला पार्क में सप्ताह में दो बार मेले का आयोजन कर रही है।

पिछले सप्ताह भी इस स्थल से कुछ दूरी पर एक बम विस्फोट हुआ था।

इस घटना पर प्रतिक्रिया जताते हुए मुख्यमंत्री एन. बीरेंद्र सिंह ने कहा, 'विकास कार्यों को जो लोग बर्दाश्त नहीं कर सकते वह इन मूर्खतापूर्ण हिंसा का सहारा ले रहे हैं और जो लोग इन गतिविधियों को नजरअंदाज करते हैं, वह आगे बढ़ रहे हैं।'