एक 62 वर्षीय व्यक्ति, जो सात साल की बच्ची के दादा हैं, उसको बच्चे के यौन उत्पीडऩ के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बच्ची के साथ अलग-अलग मौकों पर मारपीट करने के मामले में उसके बेटे और लडक़ी के 16 वर्षीय भाई को भी गिरफ्तार किया गया है। यह घटना चेन्नई के पास मडिप्पकम में 62 वर्षीय व्यक्ति के आवास पर हुई है।

पुलिस ने कहा कि बेटी के काम में व्यस्त होने और बच्चों की ऑनलाइन क्लास होने के बाद दादा अपने पोते-पोतियों को घर ले आए। उनके साथ उनका बेटा भी रहता था। पुलिस ने बताया कि 2 अगस्त की रात उसके बगल में सो रहे दादा ने उसका यौन उत्पीडऩ किया। घबराई हुई बच्ची अपने चाचा के कमरे में चली गई और उसे शांत करने की आड़ में चाचाने भी उसके साथ बदसलूकी की।

लडक़ी ने फिर मदद के लिए अपने 16 वर्षीय भाई की ओर रुख किया, जिसने उसका यौन उत्पीडऩ किया। रविवार 8 अगस्त को जब लडक़ी की मां उससे मिलने गई तो उसने देखा कि बेटी बीमार हो गई है और वह बच्चे को डॉक्टर के पास ले गई। सात साल की बच्ची ने अस्पताल में आपबीती सुनाई और मेडिकल चेकअप में इस बात की पुष्टि हुई कि बच्ची का यौन शोषण किया गया था। मां ने मडिप्पकम ऑल-वुमन पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। दादाजी और उसके चाचा को जेल भेज दिया गया, जबकि उसके 16 वर्षीय भाई को सुधार गृह में भेज दिया गया।