राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने कहा है कि तेजी से आगे बढ़ते इस दुनिया में हमें नए भारत के निर्माण के लिए उपलब्ध तकनीक का सर्वश्रेष्ठ उपयोग सुनिश्चित करना चाहिए। 

गत शुक्रवार को सिलचर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी(एनआईटी) में आयोजित 7वें एनआईटी कांक्लेव को संबोधित करते हए राज्यपाल ने कहा कि देश ने वर्ष 1947 के बाद से काफी उपलब्धियां हासिल कर ली हैं तथा देशा काफी आगे बढ़ गया है। 

परंतु हमें अभी भी भष्टाचार के कैंसर से जूझना पड़ रहा है। देशभर के 31 एनआईटी से कांक्लेव मं हिस्सा लेने आए विद्यार्थियों से पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के सपने को साकार करने लिए एकजुट होकर प्रयास करने का आग्रह करते हुए राज्यपाल ने कहा कि हमें भ्रष्टाचार की प्रवृति के खात्मे के लिए ज्ञान ग्रहण करते समय पारदर्शी चरित्र अपनाने की सख्त जरूरत है। 

इस संदर्भ में उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आदर्श को अपनाने की सलाह भी दी।