बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने बजट सत्र के दौरान 23 मार्च को विपक्षी सदस्यों के साथ की गई अभद्रता और उन्हें जबरन खींचकर निकाले जाने को लेकर राज्यपाल से अलोकतांत्रिक एवं निरंकुश सरकार की बर्खास्तगी की सिफारिश करने के साथ ही दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करने की गुहार लगाई है। 

यादव ने राज्यपाल फागू चौहान को लिखे पत्र में 23 मार्च की घटना का विस्तृत रूप से उल्लेख करते हुए एक सीडी भी संलग्न किया है। पत्र में कहा गया है कि बिहार दिवस के ठीक अगले दिन विधानसभा के अंदर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इरादे और इशारे के अनुरूप अपराधिक घटना को अंजाम दिया गया। इस घटना से विधानसभा की गौरवशाली परंपरा लहूलुहान हुई है। 

प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि विपक्षी दलों के सदस्यों पर मुख्यमंत्री सह गृह मंत्री की आज्ञा से ङ्क्षहसक एवं अत्यधिक बल प्रयोग किया गया। बल प्रयोग के दौरान कई विपक्षी सदस्यों को गंभीर चोटें लगी और घायल हो गए। घायल सदस्यों का इलाज पटना चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (पीएमसीएच) समेत अन्य अस्पतालों में जारी है।