मेघालय के राज्यपाल तथागत राय का कहना है कि पश्चिम बंगाल में जिन लोगों ने ममता बनर्जी के काफिले के पास जय श्रीराम के नारे  लगए, उनके खिलाफ धारा 307 के अंतर्गत हत्या का प्रयास करने का आरोप आता है और यह गैर-जमानती धारा है। अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले तथागत राय ने कहा कि साल 2011 में वह इस तरह की घटना का सामना कर चुके हैं, जब उनकी टिप्पणी स्थानीय विधायक को पसंद नहीं आई थी और उन्हें जेल में रात बितानी पड़ी थी।


ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए राज्यपाल तथागत राॅय ने ट्वीट करते  हुए लिखा है कि ऐसा संभव है कि जिन लोगों ने बांगाल में जय श्रीराम के नारे लगाए, उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता 307,हत्या के प्रयास के आरोप के तहत मामला दर्ज किया जाए।