सेना के लिए सरकार ने उठाया ऐसा कदम जिसे जानकर आप कहेंगे भाई वाह जी हां अब हमारे सैनिकों को देश में दुर्गम इलाकों में तैनाती के लिये अब आने-जाने में कठिनाई का सामना नहीं करना होगा। अब वे हवाई सफर से घंटों में आराम से अपने मुकाम तक पहुंच सकेंगे।


उनके लिए सरकार बाकायदा एयर इंडिया का विमान किराये पर लेगी। गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लेह-लद्दाख और पूर्वोत्तर के सुदूर इलाकों में यातायात के पर्याप्त साधन नहीं है। यही नहीं, यहां तैनात जवानों को आने-जाने में हफ्तों लग जाते हैं और काफी तकलीफ उठानी पड़ती है। जबकि वे दुर्गम इलाकों में देश की सीमाओं की सुरक्षा में तैनात होते हैं। जवानों की इन्हीं कठिनाइयों को देखते हुए सरकार ने उन्हें आने-जाने की सहुलियत देने के लिए एयर इंडिया का विमान किराये पर लेने का फैसला किया है। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि किराये पर लिये विमान से केवल अ‌र्द्धसैनिक बल ही आ जा सकेंगे।


फिलहाल यह सुविधा कश्मीर और पूर्वोत्तर भारत के दुर्गम इलाकों में तैनात अ‌र्द्धसैनिक बल के जवानों को दिया जाएगा। जिन सेक्टरों में विमान सेवा उपलब्ध होगी उनमें दिल्ली-लेह-दिल्ली, दिल्ली-जम्मू-श्रीनगर-जम्मू-दिल्ली, दिल्ली-डिबरूगढ़-गुवाहाटी-दिल्ली, कोलकाता-इंफाल-कोलकाता, कोलकाता-अगरतला-कोलकाता, कोलकाता-आइजॉल-कोलकाता और कोलकाता-सिलचर-कोलकाता शामिल हैं।


इसके साथ ही इस सेवा का लाभ अर्द्धसैनिक बल के जवानों के साथ-साथ राहत और बचाव कार्य में लगे एनडीआरएफ के जवान और खुफिया ब्यूरो के अधिकारी भी उठा सकेंगे। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस पर काम शुरू कर दिया गया है। यही नहीं, गृहमंत्रालय ने 2018 के पहले सात महीने के दौरान एयर इंडिया को किराया देने के लिए 109.84 करोड़ रुपये की रकम भी मंजूर कर दी है।


अधिकारी ने बताया कि फिलहाल योजना के लिए धन भले ही 31 जुलाई तक के लिए ही स्वीकृत किया गया हो, लेकिन इसे आगे पूरे साल और आने वाले सालों के लिये भी बढ़ा दिया जाएगा। वैसे कुछ सीमित सेक्टर के लिए इस सुविधा का प्रावधान पहले भी था, लेकिन इसे अब नये सेक्टरों, ज्यादा फेरों और विमानों में ज्यादा सीटों को शामिल कर विस्तार दिया गया है।