अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि उनकी सरकार की मुख्य प्राथमिकता कानून व्यवस्था को मजबूत बनाना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले साल पुलिस विभाग को हथियार एवं अन्य उपकरण खरीदने के लिए पर्याप्त धन आवंटित किया था।


खांडू ने यहां विधानसभा परिसर में संवाददाताओं से कहा, राज्य में पुलिस बल को मजबूत बनाने के लिए मंत्रिमंडल ने सिविल पुलिस में विभिन्न स्तरों पर तत्काल 1,000 पदों का आवंटन किया है जो प्रभावी कानून-व्यवस्था लागू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने बताया कि शिक्षा क्षेत्र भी सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल है और सरकार ने स्कूल शिक्षा में सिर्फ एक ही निदेशक होने की मंजूरी दे दी है। इससे पहले सोमवार को अरुणाचल प्रदेश में नवनिर्वाचित विधायकों ने विधानसभा के सदस्यों के तौर पर शपथ ली। अस्थाई अध्यक्ष फोसम खिमहुन ने दो दिवसीय सत्र के पहले दिन नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई।


मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने सबसे पहले शपथ ली और उनके बाद उपमुख्यमंत्री चोउना मेइन तथा कैबिनेट के सदस्यों ने शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी अनुपस्थित रहे। इस बीच भाजपा विधायक पसांग दोरजी सोना ने विधानसभाध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया जबकि भाजपा सदस्य तेसम पोंगटे ने उपाध्यक्ष के पद के लिए अपना पर्चा दाखिल किया।

सूत्रों ने सूचना दी कि अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का चुनाव मंगलवार को किया जाएगा। खांडू के नेतृत्व में भाजपा ने 60 सदस्यीय विधानसभा में 41 सीटों पर जीत दर्ज की। बता दें कि राज्य में विधानसभा चुनाव 11 अप्रैल को लोकसभा चुनावों के साथ हुआ था।