समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष (Samajwadi Party President)  और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने रविवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) की आलोचना करते हुए आह्वान किया कि प्रदेश से बुल और बुलडोजर हटाने के लिए समाजवादी पार्टी की सरकार जरूरी है।  रविवार को प्रतापगढ़ जिले के पट्टी तहसील के राम कोला गांव में एक वैवाहिक समारोह में शामिल होने आये सपा प्रमुख ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश से बुल व बुलडोज़र हटाने के लिए ( Samajwadi Party government is necessary to remove bulls and bulldozers from the state समाजवादी पार्टी की सरकार जरूरी है। 

अखिलेश ने कहा कि कुछ लोग देश, धर्म, क्षेत्र, जाति में लोगों को बांट कर अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं।  उन्‍होंने कहा कि सपा कार्यकर्ताओं का बहुत उत्पीड़न किया जा रहा हैं, उन्हें गंभीर धाराओं के साथ फर्जी मुकदमों में फंसाया जा रहा हैं।  यादव ने कहा कि अन्याय करने वालों को चिन्हित करके रखना, समय आने पर जवाब दिया जाएगा। 

प्रतापगढ़ में बढ़ रहे अपराध के बारे में उन्‍होंने कहा कि कुछ दिन पूर्व यहां का एक व्यापारी परिवार सुरक्षा के लिए मुख्यमंत्री से मदद मांगने गया था, उसको मदद तो नहीं मिली वापस आने के बाद उस व्यापारी के दोनों भाइयों को गोलियों से भून दिया गया।  प्रयागराज में हुई एक ही दलित परिवार के चार लोगों की हत्या पर सरकार को दोषी ठहराते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मामूली से रास्ते के विवाद में अगर प्रशासन के लोग समझदारी से हल करते तो इतनी निर्मम हत्या नहीं होती। 

यादव ने दावा किया कि मुख्यमंत्री बाबा न तो लैपटॉप और न ही स्मार्ट फोन चलाना जानते हैं, ऐसे में वह आप लोगों को लैपटॉप और स्मार्ट फोन नहीं देंगे।  सपा प्रमुख ने कहा कि ''यह झूठों की सरकार है, धोखा देकर जनता को मूर्ख बनाती है।  सपा की सरकार बनने के बाद युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।