कोकराझाड़ । अलग बोडोलैंड राज्य की मांग को लेकर बोडो कर्मचारियों ने बीटीसी के चारों जिलो के साथ-साथ राज्य के विभिन्न हिस्सों  में तीन घंटे का धरना प्रदर्शन किया । कोकराझाड़ के चिल्ड्रन  पार्क  में  बोड़ो  कर्मचारी संध के तत्वावधान में  तीन घंटे  का धरना प्रदर्शन किया गया जिसमें जिले के दो सौ से अधिक पुरुष -महिला कर्मचारियों ने  हिस्सा लिया ।

अलग बोडोलैंड राज्य की मांग तथा प्रस्तावित बोडोलैंड  के बाहर रहने वाले बोड़ो समुदाय के लोगों का राजनैतिक अधिकार सुनिश्चित करने  की मांग को लेकर कोकराझाड़ जिला उपायुक्त के जरिए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को ज्ञापन भेजा।

बोड़ो कर्मचारियों के  धरने  में आबासू  के महासचिव लारेंस इसलारी, सचिव खोमदेव  वारी, एनडीएफबी (पी ) के उपसभापति बी . जाइखलोंग और पीजेएसीबीएम के अहवायाक  ईरागदाउ बसुमतारी ने भी हिस्सा लिया । 

इस अवसर पर आबसू   के महासचिव लारेंस इस्लारी ने कहा कि बोडो जनजाति का सांवैधानिक अधिकार अलग बोडोलैंड राज्य का गठन सरकार को करना ही होगा । नहीं तो सरकार को  इसका खामियाजा भुगतने  के लिए तैयार रहना होगा । वहीं अलग बोडोलैंड राज्य की मांग को लेकर संग्राम करने उतरे बोड़ो  कर्मचारियो ने  भी सरकार को चेताते  हुए कहा की अगर बोडोलैंड राज्य का गठन नहीं किया गया तो नौकरी को छोड़कर आंदोलन करने के लिए मज़बूर हो जाएंगे ।