बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के विश्वजीत दैमत्री ने राज्यसभा में कहा कि केंद्र सरकार को पूर्वोत्तर में विकास कार्य पर जोर देते हुए हिंसा का माहौल समाप्त करने के लिए सभी पक्षों के साथ बात करनी चाहिए। दैमत्री ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास के लिए विशेष कार्यक्रम चलाये जाने चाहिए जिसके देश के बाकी हिस्सों के साथ ही इस क्षेत्र का विकास हो सके। 

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में हिंसा में कमी आयी है, लेकिन हिंसा को पूरी तरह से रोकने के लिए सभी संबद्ध पक्षों के साथ बातचीत की जानी चाहिए। सरकार को समस्या के समाधान के लिए बातचीत का रास्ता अपनाना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी के राकेश सिन्हा ने कहा कि विपक्ष ने अभिभाषण की आलोचना पहले से ही तैयार कर रखी है। गरीबों के लिए चलायी जा रही योजनाओं की आलोचना करने का कोई तुक नहीं है। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिले जनादेश ने राजनीति की जातिगत व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है। कांग्रेस की छाया वर्मा ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान आने वाले दिनों में विफल होने वाली योजना है। इसके तहत बनाये जा रहे शौचालय की गुणवत्ता बहुत खराब है। तीन साल में इनका खत्म होना तय है। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर बहुत भ्रष्टाचार है जिससे आम जनता परेशान है। भाजपा के शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि यह अभिभाषण देश के भविष्य की रूप रेखा तय करता है। भाजपा की पिछली सरकार ने अपने सभी वादे पूरे किये हैं जिसके कारण यह प्रचंड जनादेश मिला है। चर्चा अधूरी रही।