मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने मंगलवार को यहां राउंड टेबल इंडिया एवं रांची जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयास से तैयार किए गए मुख्यमंत्री (सीएम) किचन की शुरुआत की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को भोजन उपलब्ध कराने के लिए सरकार संकल्पित है।


सोरेन ने कहा कि किसी भी व्यक्ति की मृत्यु भूख से न हो यह सुनिश्चित करना हम सभी का परम कर्तव्य है। इसी उद्देश्य को पूरा करने के लिए रांची एवं आसपास के क्षेत्र के 5 हजार गरीब, असहाय एवं जरूरतमंद लोगों के बीच खाना का पैकेट देकर उनकी मदद करने के लिए सीएम किचन का शुभारंभ किया गया है। उन्होंने कहा कि राउंड टेबल इंडिया द्वारा लोगों को यहां पर बैठा कर खाना खिलाने की भी व्यवस्था की गई है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन की अवधि में किसी भी व्यक्ति को भोजन की समस्या उत्पन्न नही हो, इसके लिए राज्य सरकार ने पूरे झारखंड में तत्काल सीएम किचन एवं कम्युनिटी किचन की शुरुआत के लिए थानों सहित विभिन्न संस्थानों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिलों में कम्युनिटी किचन की स्थापना होने से दिहाड़ी मजदूरों सहित गरीब, असहाय, जरूरतमंद एवं सडक़ किनारे जीवनयापन करने वाले लोगों को काफी राहत मिलेगी। राज्य में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे इसके लिए सरकार संकल्पित है।


मुख्यमंत्री ने मोरहाबादी मैदान स्थित मुख्यमंत्री किचन में तैयार किए गए भोजन पॉकेट के वितरण के लिए मोबाइल गाडिय़ों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इससे पहले मुख्यमंत्री ने सीएम किचन का पूरा जायजा लिया और खाने का पॉकेट देखा एवं स्वयं भोजन का स्वाद लिया।


मुख्यमंत्री ने कहा, कोरोनावायरस (कोविड 19) संक्रमण के बढ़ते प्रभाव से पूरे देश में मानव जीवन के लिए बड़ी संकट उत्पन्न हुआ है। इस विकट परिस्थिति में राज्य के गरीब, असहाय, मजदूर आदि लोगों को भरपेट भोजन उपलब्ध कराने के लिए सरकार संकल्पित है। उन्होंने कहा कि कम्युनिटी किचन के माध्यम से खाने के पॉकेट तैयार किए जा रहे हैं तथा मोबाइल वैन से जरूरतमंदों को बांटे जा रहे हैं।