गूगल (Google) ने नया सिक्योरिटी अपडेट जारी किया है। यह सिक्योरिटी अपडेट गूगल यूजर्स के अकाउंट की सुरक्षा के लिए जारी किया गया है। इस नए सिक्योरिटी अपडेट से यूजर्स के पासवर्ड को हैक होने से बचाया जा सकता है। गूगल से पहले फेसबुक और ट्विटर के अकाउंट्स के लिए भी टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन फीचर को जारी किया था।

गूगल के नए सिक्योरिटी अपडेट (Security Update) से यूजर्स के निजी जानकारी पूरी तरह से महफूज रहेगी। गूगल का दावा है कि कोई हैकर्स इस सिक्योरिटी में सेंध नहीं लगा सकता है। Google ने बीते 9 नवंबर से नया सिक्योरिटी अपडेट जारी किया था। इस सिक्योरिटी के बाद आपको गूगल अकाउंट में लॉगिन करने के लिए टू-स्पेट वेरिफिकेशन (2 स्टेप ऑथेंटिकेशन) इस्तेमाल करना होगा।

इस नए सिक्योरिटी फीचर (Security Feature) में गूगल ने टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन सिक्योरिटी सिस्टम शुरू किया था। टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन की वजह से यूजर्स को अपना अकाउंट सुरक्षित रखने के लिए पासवर्ड के साथ-साथ मोबाइल और ई-मेल पर एक सिक्योरिटी कोड मिलेगा, जिसे दर्ज करने के बाद ही अपने खाते का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Google Chrome ब्राउजर के लिए सिक्योरिटी फीचर से यह भी पता लगाया जा सकता है कि अकाउंट के लिए रखा जाने वाला पासवर्ड कितना सुरक्षित है। इससे यह भी पता लगाया जा सकता है कि यूजर द्वारा सेट किए गए पासवर्ड को कितने बार इस्तेमाल किया गया है।

पिछले साल फेसबुक द्वारा एक नया फीचर ऐप में ऐड किया गया था, जिसे क्वाइट मोड के नाम से जाना जाता है। इस फीचर की ये विशेषता है कि इसके द्वारा यूजर्स अपना टाइम आसानी से मैनेज कर सकते हैं। इस फीचर का उपयोग करके यूजर्स फेसबुक की सारी नोटिफिकेशंस एक साथ म्यूट कर सकते हैं।

दरअसल जब यह फीचर इनेबल किया जाता है तो फेसबुक पर जो पुश नोटिफिकेशन आते हैं वो म्यूट हो जाते हैं। यूजर्स चाहे तो टाइम शेड्यूल भी कर सकते हैं कि उनको कब तक फेसबुक क्वाइट मोड का फीचर ऑन रखना है।