दो महीने चले लोकसभा चुनाव के दौरान इंटरनेट पर सर्चिंग में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मुकाबले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगे रहे। 10 मार्च से 15 मई तक 66 दिनों में गूगल सर्चिंग में मोदी के एवरेज पॉइंट्स 74 रहे, वहीं राहुल के एवरेज पॉइंट्स 12 रहे। इन 66 दिनों में सिर्फ एक ही दिन ऐसा था, जब राहुल गांधी के एवरेज पॉइंट्स 26 पर पहुंचे। यह दिन 22 अप्रैल का था, जब राहुल ने ‘चौकीदार चोर है’ बयान को सुप्रीम कोर्ट के फैसले से गलत तरीके से जोड़ने पर माफी मांग ली थी। 

इसके अलावा, 10 मार्च को राहुल के एवरेज पॉइंट्स 6 और मोदी के एवरेज पॉइंट 54 थे जबकि 15 मई को राहुल के एवरेज पॉइंट बढ़कर 11 और मोदी के 77 हो गए। गूगल ट्रेंड्स के डेटा के मुताबिक, मोदी को सभी राज्य-केंद्र शासित प्रदेशों में राहुल से ज्यादा सर्च किया गया। अगर दोनों नेताओं की अलग-अलग सर्चिंग देखें तो मोदी को सबसे ज्यादा राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और बिहार में सर्च किया गया। राहुल को भी राजस्थान, मध्यप्रदेश, नागालैंड और केरल में सबसे ज्यादा सर्च किया गया। लेकिन दोनों नेताओं की तुलनात्मक सर्चिंग की बात करें तो राजस्थान, मध्यप्रदेश, नागालैंड और केरल में राहुल के मुकाबले मोदी ज्यादा सर्च हुए। जैसे- राजस्थान में मोदी का सर्चिंग प्रतिशत 89% रहा, जबकि राहुल का सर्चिंग प्रतिशत 11% रहा। 

गूगल पर लोगों ने मोदी के बारे में उनकी बायोपिक की रिलीज डेट, टाइम मैग्जीन की कवर स्टोरी, इंटरव्यू, बालाकोट एयरस्ट्राइक पर दिया बयान और रैलियों के बारे में सर्च किया। इसी तरह से राहुल के बारे में लोगों ने न्याय योजना, वायनाड और अमेठी में नामांकन, नागरिकता विवाद, भाषण, राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट में माफी मांगने के बारे में सर्च किया। 66 दिनों में गूगल पर लोगों ने भाजपा को कांग्रेस की तुलना में ज्यादा सर्च किया। गूगल ट्रेंड्स पर इस दौरान भाजपा के एवरेज पॉइंट्स 38 और कांग्रेस के 20 रहे। 10 मार्च को भाजपा के एवरेज पॉइंट 15 थे जो 15 मई तक बढ़कर 25 हो गए। इसी तरह से 10 मार्च को कांग्रेस के एवरेज पॉइंट 10 और 15 मई को 14 हो गए। इस दौरान सिर्फ एक दिन 2 अप्रैल को कांग्रेस की सर्चिंग भाजपा से 1 पॉइंट ज्यादा रही, जबकि बाकी दिनों में हमेशा भाजपा ही आगे रही। मोदी की तरह ही भाजपा की सर्चिंग भी सभी राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों में कांग्रेस से ज्यादा रही।

दोनों पार्टियों को अलग-अलग देखें तो भाजपा को सबसे ज्यादा अंडमान-निकोबार, अरुणाचल प्रदेश, दादरा-नगर हवेली, त्रिपुरा, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड और हरियाणा में सर्च किया गया। जबकि, कांग्रेस की सर्चिंग सबसे ज्यादा अंडमान-निकोबार, राजस्थान, नागालैंड, दिल्ली, त्रिपुरा, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, अरुणाचल प्रदेश और झारखंड में हुई। दोनों की तुलना करें तो भाजपा को सबसे ज्यादा सिक्किम और कांग्रेस को तेलंगाना में सर्च किया गया। पश्चिम बंगाल में मुख्य मुकाबला भाजपा और ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच है। गूगल ट्रेंड्स पर पश्चिम बंगाल की सर्चिंग देखें तो यहां मोदी और भाजपा की सर्चिंग ममता और टीएमसी से कहीं ज्यादा रही। 10 मार्च से लेकर 15 मई तक मोदी के एवरेज पॉइंट 22, भाजपा के 37, ममता के 7 और टीएमसी के 9 रहे। बंगाल में मोदी को सबसे ज्यादा सिलीगुड़ी, आसनसोल, कोलकाता, दुर्गापुर और हावड़ा में सर्च किया गया जबकि, ममता को सिलीगुड़ी, दुर्गापुर, कोलकाता और हावड़ा में सर्च किया गया।