नई दिल्ली। सर्च इंजन गूगल ने सोमवार को भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पतंग उड़ाने की परंपरा से प्रेरित रंग-बिरंगा विशेष डूडल पेश किया। जिसमें पतंग बनाते और लोगों को पतंग उड़ाते हुए दर्शाया है। स्वतंत्रता दिवस के खास मौके पर गूगल ने भी डूडल बनाकर भारत के नागरिकों को आजादी की शुभकामनाएं दी। गूगल ने तिरंगे के तीन प्रमुख रंगों- केसरिया, सफेद और हरा का इस्तेमाल करने के साथ 15 अगस्त पर भारत में होने अनेक गतिविधियों को दर्शाया है। देश आज आजादी का 76वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस डूडल को केरल की कलाकार नीति ने बनाया है। 

ये भी पढ़ेंः खुशखबरीः सरकारी कॉलेजों में सभी छात्राओं को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेगी इस राज्य की सरकार

इस डूडल में भारत को 15 अगस्त को अपनी स्वतंत्रता के 75 साल पूरे होने का जश्न मनाते हुए दिखाया गया है। जिसमें पतंगों के जरिए देश की आजादी को महान ऊंचाइयों को प्रतीक के तौर पर दर्शाया गया है।स्वतंत्रता दिवस पर अमेरिकी सर्च इंजन गूगल गूगल भी आजादी के रंग में रंगा नजर आया। सोमवार को गूगल इंडिया के होम पेज पर खास डूडल दिखा, जो आजादी के जश्न से जुड़ा था। गूगल ने इसमें तिरंगा के तीन प्रमुख रंगों- केसरिया, सफेद और हरा का इस्तेमाल करने के साथ 15 अगस्त पर भारत में होनेवाली पतंगबाजी का भी जिक्र किया। दरअसल स्वतंत्रता दिवस की सुबह गूगल के होमपेज पर सूरज की नयी किरण के बीच हरियाली में पतंग बनाती महिला और उनके इर्द-गिर्द उन्हें उड़ाते कुछ बच्चे नजर आये। भारत में पतंग उड़ाने की पुरानी परंपरा रही है। स्वतंत्रता सेनानी भी पतंगबाजी किया करते थे। 

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने चलाया वृक्षारोपण अभियान चलाया

डूडल में बच्चों को पतंग उड़ाते हुए दिखाया गया है, जिस पर 75 लिखा हुआ है। इसके अलावा पतंगों को आसमान की ऊचाईंयों में उड़ते हुए दर्शाया गया है। जो यह साफ दिखाता है कि भारत अपनी आजादी के 75 वर्ष पूरे कर चुका है। गूगल द्वारा जारी किए गए इस जीआईएफ एनीमेशन डूडल को जीवंत बना रहा है। डूडल काफी जीवंत व आकर्षक लग रहा है। इसमें एक लड़की दिल के चिह्न वाली एक पतंग पकड़े नजर आ रही है जबकि एक लड़का उसके हाथों में मौजूद चरखी की डोर से उड़ती पतंग को देख रहा है जिसपर 75 अंक दर्ज है। पंद्रह अगस्त का दिन भारत के लिए बहुत अहम है। अंग्रेजों की लंबी गुलामी के बाद भारत ने आखिरकार 15 अगस्त 1947 को आजाद हवा में सांस ली थी।