कोरोना की दूसरी लहर में मामले काफी तेज गति से बढ़े। इस लहर ने देश में स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को काफी प्रभावित किया। संक्रमण के मामले जिस रफ्तार में शिखर को छुआ था, उसी रफ्तार में उसमें गिरावट भी देखने को मिल रही है। 

कोरोना की रफ्तार में गिरावट का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सिर्फ तीन सप्ताह में कोरोना के डेली केसों में करीब 58 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। डेटा के मुताबिक, सिर्फ तीन हफ्तों में दैनिक मामलों का सात दिन का औसत 7 मई को संक्रमण के चरम पर दर्ज की गई संख्या से आधा से भी कम हो गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, शनिवार को यह औसत 2 लाख से काफी नीचे गिर गया। शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, 1.74 लाख नए मामले सामने आए और 3614 मरीजों का जान गई। ये आंकड़े कोरोना के पीक से काफी कम है। आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 7 मई को देश में कोरोना के सर्वाधिक 4,14,188 नए संक्रमण दर्ज किए गए थे। लगभग 58 प्रतिशत कम है।