केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन बढ़ने वाला है।  वेतन बढ़ोतरी के साथ उनकी पदोन्नति भी होगी।  केंद्रीय कर्मचारियों का अप्रेजल के बाद प्रमोशन शुरू हो जाएगा।  इसके लिए अप्रेजल शुरू कर दिया गया है।  अप्रेजल के साथ कर्मचारियों की पदोन्नति का काम भी होगा।  इसके लिए कर्मचारियों को सेल्फ असेसमेंट फॉर्म भरकर अपने रिपोर्टिंग अफसर को देना होगा।  रिपोर्टिंग अफसर कर्मचारियों को रेटिंग देंगे जिसके बाद अप्रेजल और सैलरी में वृद्धि की जाएगी। 

अप्रेजल का काम ‘एनुअल परफॉर्मेंस असेसमेंट रिपोर्ट’ के तहत किया जाएगा।  सरकार ने हालांकि कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए इसकी अवधि बढ़ा दी है, लेकिन यह काम 31 दिसंबर 2021 तक कर लिया जाना है।  यह अंतिम तारीख निर्धारित की गई है।  इसके बाद अप्रेजल को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता। सरकार ने सीएसएस, सीएसएसएस और सीएससीएस कैडर के ग्रुप ए, बी और सी के अधिकारियों के अप्रेजल का काम शुरू कर दिया है। अप्रेजल का काम SPARROW पोर्टल के तहत 2020-21 के लिए किया जाना है। 

मई महीने में डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग (DoPT) डिपार्टमेंट ने एक आधिकारिक बयान जारी किया था।  इसमें कहा गया है कि कोविड-19 को देखते हुए APAR प्रोसेस को आगे बढ़ा दिया गया है।  एपीएआर के तहत अप्रेजल के डिस्ट्रिब्यूशन, ऑनलाइन जनरेशन, रिकॉर्डिंग और इस काम को पूरा किए जाने की अवधि बढ़ा दी गई है।  यह निर्देश ग्रुप ए, बी और सी के अधिकारियों के लिए लागू है. 2020-21 के अप्रेजल से जुड़ा कोई रिमार्क्स 31 दिसंबर 2021 के बाद रिकॉर्ड नहीं होगा।