मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने अरुणाचल के युवाओं से असम और अरुणाचल के बीच मधुर सामाजिक संबंध बनाने की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि पूर्वोत्तर को देश के विकास का इंजन बनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करने के लिए यहां के राज्यों के बीच एकता सबसे जरूरी है।

इटानगर में अखिल अरुणाचल प्रदेश छात्र संघ के स्वर्ण जयंती समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए सोनोवाल ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों के लिए एक बेहतर अवसर है कि वे केंद्र सरकार की एक्ट ईस्ट पॉलिसी का लाभ उठाएं। उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने केंद्र के तमाम मंत्रियों को निर्देश दे रखा है कि वे प्रत्येक 15 दिन पर पूर्वोत्तर का दौरा कर योजनाओं की समीक्षा करें।

उन्होंने ऐसा इसलिए किया है कि वे यहां के राज्यों को देश का सबसे विकसित क्षेत्र बनाना चाहते हैं। सोनोवाल ने अरुणाचल के युवाों से कृषि, बागवानी, जल और पर्यटन के क्षेत्र में छिपी संभावनाओं पर काम करने का आग्रह किया। उन्होंने क्षेत्र के चहुंमुखी विकास के लिए सामूहिक सक्रियता और संयुक्त प्रयास की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि ऐसा होने से समाज के सभी तबकों का विकास और प्रधानमंत्री के अष्टलक्ष्मी का सपना साकार हो पाएगा।