अमेरिकी बॉन्ड के यील्ड में बढ़ोतरी की वजह से इंटरनेशनल मार्केट में सोने की कीमत में काफी कमी आई है। निवेशक गोल्ड में निवेश से पहले अमेरिकी कंज्यूमर प्राइस डेटा का इंतजार कर रहे हैं ताकि महंगाई का पता लगाया जा  सके। इस बीच भारत में कोरोना संक्रमण की बिगड़ती स्थिति से घरेलू मार्केट में गोल्ड के दाम बढ़ते हुए दिख रहे हैं।

अमेरिका में तीसरे दिन बॉन्ड यील्ड में इजाफा दिखा। इससे गोल्ड में निवेशकों की होल्डिंग घटी। इस वजह से इनकी कीमत में गिरावट आई। जब सरकार भारी स्टिमुलस दे रही हो तो मार्केट में महंगाई बढ़ती है और लोग इसकी हेजिंग के लिए इसमें निवेश बढ़ाते है यह महंगा हो जाता है। भारत में फिजिकल गोल्ड की डिमांड लगातार घटती जा रही है क्योंकि ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन की वजह से मार्केट नहीं खुल रहे हैं और ज्वैलरी स्टोर्स में लोग नहीं जा पा रहे हैं। अक्षय तृतीया से पहले गोल्ड के दाम में गिरावट दर्ज की जा रही है। स्टोर नहीं खोलने से फिजिकल गोल्ड की बिक्री नहीं हो पा रही है।

इस बीच, घरेलू मार्केट में एमसीएक्स में गोल्ड के दाम 0.32 फीसदी यानी 152 रुपये घट कर 47,481 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गए वहीं चांदी की कीमत 0.74 फीसदी यानी 529 रुपये घट कर 71,400 रुपये प्रति किलो पर आ गई। इस बीच, अक्षय तृतीया से पहले मंगलवार को हाजिर बाजार गोल्ड गिर कर 47,789 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका वहीं, सिल्वर की कीमत भी घटी और यह 70,969 रुपये प्रति किलो पर बिका। अहमदाबाद में बुधवार को स्पॉट गोल्ड 47569 रुपये प्रति दस ग्राम पर बिका वहीं गोल्ड फ्यूचर 47550 रुपये प्रति दस ग्राम पर। इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड 0.1 फीसदी गिर कर 2961.52 डॉलर प्रति औंस पर बिका वहीं सिल्वर 0.1 फीसदी गिरावट के साथ 27.29 डॉलर पर बिका।