सोने में पैसा लगाने वाले मालामाल हो गए है क्योंकि इसकी कीमतों में इजाफा हुआ है। MCX पर अप्रैल डिलीवरी वाला सोना आज 40 रुपये की तेजी के साथ खुला और दिन चढ़ने के साथ उसमें तेजी आई। सुबह 10:30 बजे यह 144 रुपये की तेजी के साथ 44894 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। सुबह के सत्र में इसने 44790 रुपये का न्यूनतम और 44964 रुपये का अधिकतम स्तर छू लिया। जून डिलीवरी वाला सोना भी 139 रुपये की तेजी के साथ 45246 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। मई डिलीवरी वाली चांदी 260 रुपये की तेजी के साथ 67104 रुपये प्रति किलो पर ट्रेड कर रही थी।

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बहुमूल्य धातुओं की कीमतों में गिरावट के बीच दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने का भाव शुक्रवार को 291 रुपये टूट कर 44,059 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। इससे पिछले कारोबारी सत्र में सोना 44,350 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी भी 1,096 रुपये लुढ़ककर 65,958 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई। चांदी का पिछला बंद भाव 67,054 रुपये प्रति किलोग्राम था। अंतरराष्ट्रीय बजार में सोना गिरावट के साथ 1,707 डालर प्रति औंस और चांदी भी नरम हो 25.67 डालर प्रति औंस पर थी।
अभी सोना 44,059 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर आ चुका है। वहीं अगस्त में सोने ने 2010 डॉलर प्रति औंस का उच्चतम स्तर छुआ था, जिससे अब तक 15 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। एनालिस्ट मान रहे हैं कि अभी सोने में गिरावट और आएगी। माना जा रहा है कि सोना 1500 डॉलर प्रति औंस तक गिर सकता है, जिसके बाद इसमें स्थिरता दिखेगी। यानी इस हिसाब से भारतीय रुपयों में देखा जाए तो सोना करीब 38,800 रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल के करीब पहुंच सकता है।

सोने की कीमत में ऑल टाइम हाई से 12 हजार रुपये से भी अधिक की गिरावट आ चुकी है। 2020 में सोना 28 फीसदी तक चढ़ा था और अब 12 हजार रुपये से भी अधिक गिर चुका है। सिर्फ इसी साल में भी सोने में भारी गिरावट आई है। इतना ही नहीं, चांदी में भी 10 हजार रुपये तक की गिरावट देखने को मिली है। अगस्त में सोने ने 56,310 रुपये का ऑल टाइम हाई छुआ था और अब सोना 44,059 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच चुका है।