कांग्रेस और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (goa forward party) ने राज्य में 2022 विधानसभा चुनावों (Goa assembly elections) को देखते हुए शनिवार को चुनावी गठबंधन करने की घोषणा की। कांग्रेस के गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव (Dinesh Gundu Rao) ने यहां एक संवाददाता सम्मलेन को संबोधित करते हुए कहा कि इस गठबंधन के बीच सीटों के बंटवारे की कवायद आने वाले दिनों में की जाएगी और दोनों पार्टियों का मकसद भारतीय जनता पार्टी को हराना है।

राव ने कहा कि गोवा फॉरवर्ड पार्टी (goa forward party) हमसे काफी लंबे समय से बातचीत कर रही थी और हम दोनों के बीच अब सहमति बनी है तथा हमने गठबंधन (Goa Forward Party, Congress Announce Alliance) किया है और यह गठबंधन इस सांप्रदायिक और भ्रष्ट भारतीय जनता पार्टी को हराने की दिशा में काफी अच्छा रहेगा। गौरतलब है कि पूर्व उपमुख्यमंत्री विजय सरदेसाई (Vijay Sardesai) की अगुवाई में गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने 2017 का चुनाव भाजपा के खिलाफ लड़ा था लेकिन बाद वह भाजपा नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल हो गई थी और उसने अपने तीन विधायकों के लिए तीन मंत्री पद भी पक्के करा लिए थे।

राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर पार्रिकर (Manohar Parrikar) के निधन के बाद उनके उत्तराधिकारी प्रमोद सावंत (Pramod Sawant) ने पद संभालने के बाद इन्हें कैबिनेट से हटा दिया था। राव ने कहा कि पार्टी अतीत की अनदेखी कर रही है और गठबंधन का यह फैसला जमीनी हकीकत को देखकर ही लिया गया है। उन्होंने कहा कि अतीत में कुछ मसले हैं जो हुए हैं, लेकिन राजनीति में कई बार आपको जमीन हकीकत को ध्यान में रखते हुए फैसले लेने पड़ते हैं और हम इस दिशा में आगे बढ़े हैं। अभी यह एक औपचारिक गठबंधन है और इसे मिलकर एक साथ लड़ना चाहिए।

राव (Dinesh Gundu Rao) ने कहा कि अभी यह एक औपचारिक गठबंधन है और वह हमारे साथ है तथा हम दोनों को भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लडऩा चाहिए तथा कुछ समझदारी, या कुछ सीटों पर सहमति अथवा कोई दोस्ताना लड़ाई का कोई सवाल ही नहीं है। यह बहुत ही स्पष्ट गठबंधन है जो अब हो चुका है और आगे जाकर यह और भी मजबूत होगा तथा कांग्रेस की जीत को सुनिश्वित करेगा।