एक आेर असम में जहां वैश्विक सम्मेलन के जरिए देश-विदेश की कंपनियों का आमंत्रित करके असम में निवेश करने का मार्ग प्रशस्त कर रही है तो वहीं दूसरी आेर जीएमडीए ने स्थानीए कारोबारियों को बड़ा झटका देते हुए छ महीने के अंदर जालुकबाड़ी से खानापाड़ा के बीच नेशनल हार्इवे 37 के दोनों आेर मौजूद सभी वेयरहाउस, ट्रक पार्किंग, यार्ड आैर कोयला डिपो को स्थानांतरित करने का आदेश जारी किया है।

 

जानकारी कें मुताबिक आने वाले छ महीनों के अंदर नेशनल हार्इवे 37 के दोनों आरे जितने भी वेयरहाउस, ट्रक पार्किंग, यार्ड आैर कोयला डिपो है सबको स्थानांतरित कर दिया जाएगा। जीएमडीए ने इसके लिए बढ़ते प्रदूषण आैर ट्रैफिक जाम को हवाला दिया है।

जो दिनों दिन हार्इवे को बाधित कर रहा है। बता दें कि इस क्षेत्र को इको सेंसटिव जोन के रूप में माना जाता है। गुवाहाटी मेट्रोपोलिटन एरिया 2025 मास्टर प्लान को ध्यान में रखकर भी या फैसला किया गया है।