आज महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) राष्ट्रपिता की जयंती  gandhi jayanti है। हमारे देश को आजाद कराने में इनका सबसे बड़ा योगदान रहा है। आज दिन 2 अक्टूबर भारत देश के लिए काफी महत्वपूर्ण है। क्योंकि इस दिन भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) का जन्म हुआ था। महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) का जन्म  2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था।
आज साल 2021 में महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 152वीं जयंती मनाई जाएगी। जानकारी के लिए बता दें कि महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के जन्मदिन 2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस (international non-violence day) भी मनाया जाता है। सत्य और अहिंसा (truth and non-violence) को लेकर बापू के विचार पूरी दुनिया का मार्गदर्शन करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे।
इन दिन महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) जयंती पर स्पीच देते हैं कुछ जानकारी आपकी स्पीच को बहुत ही शानदार बना सकती है। जैसे कि शुरूआत में महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के जन्म को लेकर जानकारी दें-
आज न सिर्फ पूरा हिन्दुस्तान, बल्कि दुनिया के कई देश 152वीं गांधी जयंती मना रहे हैं क्योंकि आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) का जन्म हुआ था। 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) का हुआ था। उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। देश की आजादी से पहले ही लोगों उनको बापू के नाम से पुकारने लगे थे।
जानकारी के लिए बता दें कि महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की महानता, उनके कार्यों व विचारों के कारण ही 2 अक्टूबर को स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस की तरह राष्ट्रीय पर्व का दर्जा दिया गया है।

गांधी की पढ़ाई की बात करें तो-

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) ने लंदन में कानून की पढ़ाई की थी। लंदन से बैरिस्टर की डिग्री हासिल कर उन्होंने बड़ा अफसर या वकील बनना उचित नहीं समझा, बल्कि अपना पूरा जीवन देश के नाम समर्पित कर दिया। अपने जीवन में उन्होंने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ कई आंदोलन किए। वह हमेशा लोगों को अधिकार दिलाने की लड़ाई लड़ते रहे।


 
चंपारण सत्याग्रह (Champaran Satyagraha), असहयोग आंदोलन (Non-cooperation Movement), दांडी सत्याग्रह (Dandi Satyagraha), दलित आंदोलन (Dalit Movement), भारत छोड़ो आंदोलन (Quit India Movement) उनके कुछ प्रमुख आंदोलन ने जिन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य की नींव कमजोर करने में बड़ा रोल अदा किया था।


गांधी जी (Mahatma Gandhi) ने भारतीय समाज में व्याप्त छुआछूत जैसी बुराइयों के प्रति लगातार आवाज उठाई। वो चाहते थे कि ऐसा समाज बने जिसमें सभी लोगों को बराबरी का दर्जा हासिल हो क्योंकि सभी को एक ही ईश्वर ने बनाया है। उनमें भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए। नारी सशक्तीकरण के लिए भी वह हमेशा प्रयासरत रहे।