बिहार के एक बालिक गृह से चार लड़कियां छत के रास्ते से फरार हो गईं। हालांकि एक लड़की को उसी दिन तलाश कर लिया गया, वहीं तीन लड़कियां अपने आप ही लौट आईं। मामला मोतिहारी के एक बालिका गृह का है। उन्‍होंने लौटने पर भागने के कारण का खुलासा किया। पुलिस ले घटना को लेकर एफआइआर (FIR) दर्ज कर ली है।

मिली जानकारी के अनुसार मोतिहारी के एक बालिका गृह की चार लड़कियां गायब पाई गईं। इसके बाद उनकी खोज शुरू हुई। देर रात तक एक को खोज लिया गया। अन्‍य तीन को मंगलवार दोपहर तक बरामद किया गया। बालिका गृह से निकलकर लड़कियां खेतों की तरफ जाते देखीं गईं थीं। स्थानीय लोगों की सूचना पर एक लड़की को तुरंत बरामद कर लिया गया था, लेकिन शेष तीन निकल भाग निकलीं। बाद में वे भी लौट आईं।

पुलिस ने बरामद लड़कियों से पूछताछ की है। वे छत से साड़ी के सहारे नीचे उतरकर घर जाने के लिए भागीं थीं। लड़कियों के भागने की जानकारी बालिका गृह संचालिका ने पुलिस और अधिकारियों को दी। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने लड़कियों की खोज शुरू की, लेकिन वे तब तक वापस लौट आईं। विदित हो कि बिहार में बालिका गृहों से लड़कियों के भागने की यह कोई नई घटना नहीं हैं। ऐसी कई घटनाएं हो चुकी हैं। इनसे बालिका गृहों की सुरक्षा व्‍यवस्‍था की पोल खुलती रही है। बालिका गृहों से लड़कियों के भागने के पीछे वहां उनका शोषण भी कारण रहा है। बीते दिनों मुजफ्फरपुर बालिका गृह में लड़कियों के बड़े पैमाने पर यौन शोषण का मामला भी उजागर हो चुका है। इस कांड का मास्‍टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर सलाखों के पीछे है। उसपर बालिका गृह की कई लड़कियों की हत्या का भी आरोप है।