मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 12 वर्षीय बालिका का अपहरण कर उसके साथ मारपीट करने और करंट लगाने जैसी यातनाएं दी गई। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मामला बैरसिया क्षेत्र के शांतिकुंज इलाके का हैं। यहां की 12 साल की सातवीं में पढऩे वाली बालिका का बुधवार की देर शाम को अपहरण कर लिया गया था। परिजनों ने देर रात तक तलाश की मगर जब पता नहीं चला तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने नर्मदा प्रसाद जाटव व राजकुमार को गिरफ्तार कर बालिका को बरामद किया।

ये भी पढ़ेंः महिला ने ट्रेंड किए 100 से ज्यादा आतंकी, एकसाथ 3 आतंकियों से रचाई शादी


आरोपियों के चंगुल से मुक्त बालिका ने जो घटनाक्रम बताया वह दिल दहला देने वाला है। बालिका का कहना है कि उसकी मां टेलर के पास कपड़े सिलवाने गई थी। वह भी उस दुकान पर जा रही थी तभी पड़ोस में रहने वाले नर्मदा ने रास्ते से उसका हाथ पकडक़र कमरे में बंद कर दिया। उसके बाद मारा-पीटा व हाथ-पैर रस्सी से बांध कर एक प्लास्टिक की बोरी में बंद कर दिया। जब उसने चिल्लाने की कोशिश की तो करंट लगाया गया।

ये भी पढ़ेंः केंद्रीय कर्मचारियों के लिए जरूरी खबर, सैलरी में बढ़ोतरी के लिए नया फॉर्मूला लाने की तैयारी में केंद्र सरकार


बालिका ने पुलिस केा बताया है कि आरोपी उसकेा किसी को बेचना चाह रहे थे, इसके लिए वे फोन पर भी बात कर रहे थे। आरेापियों ने बेहोशी के लिए इंजेक्शन भी लगाया था। बताया गया है कि जब पुलिस बालिका की तलाश कर रही थी तभी एक घर से बच्ची के रोने की आवाज आई। इस पर महिलाओं ने पुलिस का सूचना दी, इसके बाद पुलिस ने उस मकान में रहने वाले नर्मदा से पूछताछ की तो राज खुल गया।भोपाल ग्रामीण क्षेत्र की पुलिस अधीक्षक किरण करकेट्टे के मुताबिक बच्ची को सुरक्षित बरामद किया गया। बच्ची सुरक्षित है।