मुजफ्फरनगर जिले के बघरा में स्थित योग साधना यशवीर आश्रम में महंत स्वामी यशवीर जी महाराज के सानिध्य में मेरठ जिले के दो मुस्लिम परिवारों के आठ सदस्य शुद्धि यज्ञ में गायत्री मंत्रों के साथ आहुति देने के बाद हिंदू धर्म में वापस आ गए। इन परिवारों के सभी 8 सदस्यों के नाम भी बदल दिए गए। अब शाहिस्ता को राधा, रशीदा को गीता तो हारून को अरुण कहा जाएगा। इसी तरह से परिवार के अन्य सदस्यों का नया नामकरण भी हुए।

यह भी पढ़े : दूसरी बार शादी के बंधन में बंधे पूर्व क्रिकेटर अरुण लाल, लंबे समय की दोस्त बुल बुल साहा से की शादी


योग साधना यशवीर आश्रम में महंत स्वामी यशवीर जी महाराज के सानिध्य में आयोजित कार्यक्रम में आचार्य मृगेंद्र ब्रहमचारी ने वेद मंत्रों से विधि विधान से हवन-पूजन कराकर दो परिवारों के इन 8 सदस्यों की शुद्धि की। इनका कहना है कि उनके माता-पिता हिंदू ही थे, लेकिन बाद में किसी वजह से इस्लाम कबूल कर लिया था अब वह दोबारा अपने धर्म में वापसी कर रहे हैं।

यह भी पढ़े : Akshaya Tritiya: अक्षय तृतीया पर ये छोटा सा उपाय दिलाएगा वैभव और सुख समृद्धि, विष्णु जी और पितरों की रहेगी कृपा


महंत यशवीर जी महाराज ने कहा कि प्रदेश में पूर्व की सरकारों के कार्यकाल में हिंदुओ का उत्पीड़न कर उन्हें डराकर मुस्लिम बनाया जाता था, लेकिन अब प्रदेश में दूसरी बार योगी आदित्यनाथ जी की सरकार बनने और माहौल ठीक होने पर पहले धर्म छोड़ गए लोग पुन: हिंदू धर्म में वापसी कर रहे हैं। जो धर्मबदल कर चले गए थे अब उनका स्वाभिमान जाग रहा है और वह वापसी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरठ के निवासी इन दो परिवारों के 8 सदस्यों ने बघरा में यशवीर आश्रम में आकर अपने धर्म में पुन: वापसी की है। इन सभी लोगों और बच्चों को गंगाजल से आचमन कराकर जनेऊ धारण कराया।

यह भी पढ़े : 2023 चुनाव से पहले नागालैंड सरकार में दरार? महत्वपूर्ण विभाग छीनने के बाद डिप्टी सीएम ने ठुकराया नया 'असाइनमेंट'


इसके बाद लाल धागे में ओम की माला उनके गले में डाली गई। मुख्यत: वेद मंत्रों और गायत्री मंत्र से हवन कराया गया। उन्होंने बताया कि जिन आठ लोगों ने हिंदू धर्म में पुन: वापसी की हैं उनके नाम भी धर्म के आधार पर बदलकर रख दिए गए हैं। शाहिस्ता को राधा, बरखा को वर्षा, रशीदा को गीता, अकबर को कृत, इकरा को शीतल, गुल्लू को ऋतिक, अहसान को सचिन व हारूण को अरूण बना दिया गया है।