हैती की राजधानी पोर्ट ओ प्रिंस में एक मुख्य सड़क पर हुई गोलीबारी में एक पत्रकार और एक राजनीतिक कार्यकर्ता समेत कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई। राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख लियोन चार्ल्स ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि देर रात हुए इस हमले की जांच चल रही है। उन्होंने इससे ज्यादा जानकारी नहीं दी और न ही इस बात को बताया कि इस हमले को एक व्यक्ति ने अंजाम दिया था या फिर कई हमलावरों ने गोलीबारी की।

डेल्मास 32 में एक मुख्य सड़क के किनारे फुटपाथ पर शव बिखरे हुए पाए गए। ये इलाका राजधानी जो पोर्ट ओ प्रिंस के भीतर एक भीड़भाड़ वाला क्षेत्र है। लियोन चार्ल्स ने कहा कि गोलीबारी की ये घटना उस क्षेत्र में हुई, जहां कुछ घंटे पहले ही फैंटम 509 नामक असंतुष्ट पुलिस अधिकारियों के एक समूह के प्रवक्ता की हत्या की गई थी। उन्होंने सामूहिक हत्या के लिए फैंटम 509 के सहयोगियों को दोषी ठहराया। लेकिन अपनी बात को सच साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं दिया।

हैती नेशनल पुलिस के प्रमुख चार्ल्स ने कहा कि पुलिस प्रतिशोध के इन कृत्यों को किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं कर सकती है। दूसरी ओर, फैंटम 509 के सदस्यों ने इस घटना पर तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की है। मृतकों में रेडियो विजन 2000 के लिए काम करने वाले डिएगो चार्ल्स और राजनीतिक कार्यकर्ता एंटोनेट डुक्लेयर शामिल थे।

इस हत्या से हैती में बहुत से लोग अचंभित हैं। ये हत्या ऐसे समय पर हुई है, जब हाल के महीनों में गैंग हिंसा में तेजी से इजाफा हुआ है। अमेरिकी दूतावास ने इस हमले की निंदा की है और कहा कि ये जीवन की हानि और सामान्य असुरक्षा को लेकर गहराई से चिंतित है। इसने कहा कि अमेरिका हैती की सरकार से गिरोहों के प्रसार का मुकाबला करके और हिंसा के अपराधियों और उनके सहयोगियों को जवाबदेह ठहराकर अपने नागरिकों की रक्षा करने का आग्रह करता है।